Ram Mandir Bhumi Pujan: ड्रोन कैमरे की नजर से देखिए अयोध्या की खूबसूरत तस्वीरें
Ayodhya News in Hindi

Ram Mandir Bhumi Pujan: ड्रोन कैमरे की नजर से देखिए अयोध्या की खूबसूरत तस्वीरें
ड्रोन कैमरे से ली गई तस्वीर

Ram Mandir Bhumi Pujan: यह वीडियो खुबसूरत तरीके से सजाई गई राम की पैड़ी का है. वीडियो देखकर लग रहा है कि पूरी अयोध्या का कायाकल्प कर दिया गया हैं. रौशनी में नहाई अयोध्या का अद्भुत नजारा अब सोशल मीडिया पर वायरल है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 5, 2020, 10:20 AM IST
  • Share this:
अयोध्‍या. पांच अगस्त को होने वाले भूमि पूजन (Bhumi Pujan) से पहले राम नगरी अयोध्या (Ayodhya) दुल्हन की सज-धज कर तैयार है. प्रभु राम के पीताम्बरा रंग में रंगी अयोध्या की छटा अलौकिक और मोहक हो गई है. अयोध्या के राम की पैड़ी की ड्रोन कैमरे से ली गई तस्वीर अत्यंत ही मंत्रमुग्ध करने वाली है. हालांकि इस ऐतिहासिक मौके का साक्षी हर राम भक्त अयोध्या पहुंचकर बनना चाहता था, लेकिन कोरोना महामारी की वजह से ऐसा नहीं हो पा रहा है. लेकिन पर्यटन विभाग द्वारा अयोध्या की हर उस तस्वीर को सोशल मीडिया पर शेयर किया जो इस भूमि पूजन कार्यक्रम से जुड़ी हैं.

ऐसा ही एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. यह वीडियो खुबसूरत तरीके से सजाई गई राम की पैड़ी का है. वीडियो देखकर लग रहा है कि पूरी अयोध्या का कायाकल्प कर दिया गया हैं. रौशनी में नहाई अयोध्या का अद्भुत नजारा अब सोशल मीडिया पर वायरल है.





चारों तरफ गूंज रही रामधुन
अयोध्या में चार अगस्त को दीपावल मनाई गई. सरयू तट पर करीब साढ़े तीन लाख दीपक जलाए गए. इतना ही नहीं हर घर में दीपक के साथ रामधुन की गूंज सुनाई दे रही है. प्रभु राम के भव्य राम मंदिर निर्माण की शुरुआत को लेकर अयोध्यावासियों के साथ-साथ देश विदेश में जश्न का महौल है.

इसके अलावा राम जन्मभूमि परिसर के जिस जगह पर भूमि पूजन होना है उस जगह को भी सजाया संवारा गया है. खूबसूरत रंगोली के साथ वहां पंडाल और मंच बनाए गए हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसी जगह वैदिक रीति-रिवाज के अनुसार शुभ मुहूर्त में चांदी की ईंट रखकर शिला पूजन करेंगे. आज होने वाले भूमि पूजन के कार्यक्रम को पूरा कराने के लिए काशी, अयोध्या, दिल्ली व प्रयागराज के विद्वानों को बुलाया गया है. अलग-अलग पूजा के अलग-अलग एक्सपर्ट हैं. पूरी टीम 21 ब्राह्मणों की है जो अलग अलग तरीकों से पूजा कराएगी. यह एक वक्त में नहीं होगी बल्कि अलग-अलग कालखंड में अलग-अलग ब्राह्मण पूजा कराएंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज