अयोध्या लैंड डील विवाद: डिप्‍टी CM मौर्य बोले- रामलला का भव्य मंदिर निर्माण रामद्रोहियों को बर्दाश्त नहीं हो रहा

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट एक जमीन की डील को लेकर विवादों में है.

Ram Mandir News: सपा और आम आदमी पार्टी ने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से राम मंदिर निर्माण के लिए खरीदी गई जमीन में घोटाले का आरोप लगाया है. इसके बाद यूपी की सियासत तेज हो गई है. जबकि डिप्‍टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने विरोधियों पर तंज कसते हुए कहा है कि रामलला का भव्य मंदिर निर्माण राम द्रोहियों को बर्दाश्त नहीं हो रहा है.

  • Share this:
    अयोध्या. उत्‍तर प्रदेश के अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से राम मंदिर निर्माण के लिए खरीदी गई जमीन को लेकर लगे घोटाले ( Ram Mandir Land Scam Controversy) के आरोपों पर विवाद बढ़ता ही जा रहा है. यही नहीं, इस मामले को लेकर समाजवादी पार्टी और आम आदमी पार्टी खासी हमलावर हैं. इस बीच यूपी के डिप्‍टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Deputy CM Keshav Prasad Maurya) ने विरोधियों को रामद्राही करार दिया है.

    बता दें कि सपा और आम आदमी पार्टी का आरोप है क‍ि श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट से संबंधित दो करोड़ रुपये में खरीदी गई जमीन को महज कुछ मिनटों बाद ही 18.5 करोड़ रुपये में ट्रस्ट ने खरीदा है.

    केशव प्रसाद मौर्य ने किए लगातार तीन ट्वीट
    यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने आज राम मंदिर जमीन घोटाले का आरोप लगाने वालों को रामद्रोही बताते हुए तीन ट्वीट किए हैं. उन्‍होंने लिखा, ' रामलला का भव्य मंदिर निर्माण राम द्रोहियों को बर्दाश्त नहीं हो रहा है.' इसके अलावा अन्‍य ट्वीट में लिखा, 'राम भक्तों का भरोसा अटल राजनीति स्वीकार नहीं. राम भक्तों को राम द्रोही उपदेश न दें.'

    यही नहीं, इससे पहले सोमवार को मौर्य ने कहा था कि अगर आरोप साबित हुए तो दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. साथ ही उन्होंने ये भी कहा था कि जिनके हाथ रामभक्तों के के खून से सने हैं, वह उपदेश न दें.

    चंपत राय ने कही ये बात
    राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने विवाद को लेकर कहा कि जितना क्षेत्रफल है उसकी तुलना में इस भूमि का मूल्य 1423 रुपये प्रति वर्ग फीट है जो बाजार मूल्य से बहुत कम है. मालिकाना हक का निर्णय करना बहुत जरूरी था जो कराया गया. हमने जमीन का एग्रीमेंट करा लिया और अभी बैनामा कराया जाना बाकी है. इसके साथ उन्‍होंने कहा कि सभी लेनदेन बैंक टू बैंक हुए हैं और टैक्स में कोई चोरी नहीं की गई है. दुर्भाग्यपूर्ण है कि आरोप लगाने वालों ने आरोप से पहले ट्रस्ट के पदाधिकारियों से तथ्यों की जानकारी नहीं ली. उन्होंने समाज को भ्रमित किया है. भ्रमित न हों और मंदिर समय सीमा में पूरा करने में सहयोग करें.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.