COVID-19 से निपटने को तैयार राम नगरी, अभी तक नहीं है एक भी पाजिटिव मरीज: डीएम अयोध्या
Ayodhya News in Hindi

COVID-19 से निपटने को तैयार राम नगरी, अभी तक नहीं है एक भी पाजिटिव मरीज: डीएम अयोध्या
डीएम अयोध्या ने बताया कि लोगों की सुविधा के लिए कंट्रोल रूम के सभी सात नंबरों को वात्सल्य डिजिटल के सहयोग से इंटीग्रेटेड नंबर 8929100752 से जोड़ा गया है.

अयोध्या (Ayodhya) के डीएम अनुज कुमार झा ने कहा कि अभी तक प्रशासन का पूरा ध्यान महामारी को फैलने से रोकने के साथ भोजन फल, सब्जी आम आदमी तक पहुंचाने की व्यवस्था को सुदृढ़ करने पर था. अब प्रशासन लॉक डाउन के निर्देशों का सख्ती से अनुपालन कराएगा. होम डिलीवरी का अनुपालन न कराने वाले दुकानदारों का लाइसेंस निरस्त कराया जाएगा.

  • Share this:
अयोध्या. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (COVID-19) के संक्रमण से निपटने के लिए अयोध्या (Ayodhya) के जिला प्रशासन ने मुकम्मल तैयारियों का दावा किया है. जिलाधिकारी अनुज कुमार झा का कहना है कि सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक एल-1 फैसिलिटी, मसौधा ब्लॉक भवन और एल-2 दर्शन नगर, मेडिकल कॉलेज में उपलब्ध कराई गई है. आपात सेवाओं से जुड़े स्वास्थ्यकर्मियों समेत अन्य के लिए 2000 पीपीई व अन्य उपकरण उपलब्ध है.

डीएम ने कहा कि अभी तक प्रशासन का पूरा ध्यान महामारी को फैलने से रोकने के साथ भोजन फल, सब्जी आम आदमी तक पहुंचाने की व्यवस्था को सुदृढ़ करने पर था. अब प्रशासन लॉक डाउन के निर्देशों का सख्ती से अनुपालन कराएगा. होम डिलीवरी का अनुपालन न कराने वाले दुकानदारों का लाइसेंस निरस्त कराया जाएगा. जिले में कुल 16 जमाती आए थे, जिनको मसौधा में क्वारेंटाइन किया गया था. सभी की जांच रिपोर्ट अभी तक नेगेटिव है. पटरंगा के बाप-बेटे का दूसरा सैम्पल भेज गया है. मसौधा ब्लाक मुख्यालय भवन में क्वारेंटाइन के लिए सेपरेट टॉयलेट युक्त 54 कक्ष और दर्शन नगर मेडिकल कॉलेज में 100 आइसोलेशन तथा 30 क्वांट्राइन बेड सक्रिय किए गए हैं.

मेडिकल कॉलेज में 4 वेंटीलेटर सक्रिय हुए



उन्होंने बताया कि जल्द ही मेडिकल कालेज में बीएस 3 जांच लैब शुरू हो जाएगी. मेडिकल कॉलेज में 4 वेंटीलेटर सक्रिय हो गए हैं और प्रक्रिया में हैं. मेडिकल कॉलेज के स्वास्थ्य कर्मियों को क्वारेंटाइन करने के लिए मेडिकल कॉलेज के लिए अलावा अवध विश्वविद्यालय का गेस्ट हाउस तथा अन्य स्वास्थ्यकर्मियों के लिए होटल व लाज लिए गए हैं. उन्होंने बताया कि हमारे यहां जांच के लिए पर्याप्त किट मौजूद है.
ग्रामीण क्षेत्र में 4760 व शहर में 137 लोगों का होम क्वॉरेंटाइन

अभी 80 परसेंट केस सिम्टम्स नहीं है, जबकि 44 सैम्पल लिये गए थे, जिनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है. होम डिलीवरी के लिए राशन व फल-सब्जी के लिए 575 और दूध के लिए पास दिया गया है. जिले में 6 सामुदायिक भोजनालय का संचालन हो रहा है. अंत्योदय व मनरेगा के 134982 राशन कार्डो को 38718 कुंटल और बिना राशन कार्ड वाले 14090 लोगों को 540087 कुंतल राशन वितरित किया गया है. जनपद के ग्रामीण में 4760 व शहरी में 137 लोगों को होम क्वॉरेंटाइन किया गया है. 1206 लोगों को गांव कर स्कूलों में रखा गया है.

रैपिड रिस्पांस टीम का गठन 

जिलाधिकारी ने बताया कि जिले में 804 गर्भवती महिलाओं की नियमित जांच और प्रसव के लिए कार्ययोजना तैयार कर ली गयी है, नगर निगम क्षेत्र में 138 पुजारियों तथा अखबार के हैकरों को एक-एक हजार प्रति माह दिए जाने का निर्णय लिया गया है. उन्होंने बताया कि जिले में अभी तक कोई पार्टी केस नहीं आया है, बावजूद इसके हर क्षेत्र में रैपिड रिस्पांस टीम का गठन कर दिया गया है. पॉजिटिव केस मिलने की दिशा में सबसे पहले टीम उस इलाके को सैनिटाइज करेगी.

1 से अधिक केस होने पर 3 किलोमीटर के दायरे में घर-घर स्क्रीनिग

अगर एक केस होगा तो एक किलोमीटर के दायरे में और एक से अधिक केस होने पर 3 किलोमीटर के दायरे में घर-घर जाकर स्क्रीनिग की जाएगी. लोगों की सुविधा के लिए कंट्रोल रूम के सभी सात नंबरों को वात्सल्य डिजिटल के सहयोग से इंटीग्रेटेड नंबर 8929100752 से जोड़ा गया है. सरकार की ओर से सभी को मास्क अनिवार्य किया गया है. इसको लेकर प्रशासन ने रोजाना 20 हजार मास्क तैयार कराने का लक्ष्य रखा है. 2000 की पहली खेप मिली है. जिसको नगर निगम के सफाई कर्मियों के लिए दिया गया है. जानवरों को भी 10 स्थानों पर भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:

यूपी में 410 हुए कोरोना पॉजिटिव मरीज, इनमें जमात के 221, अब तक 4 मौत

कोरोना पीड़ित महिला मिलने के बाद भाकियू अध्यक्ष नरेश टिकैत सेल्फ क्वारेंटाइन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज