होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण 30% पूरा, अब रामलला के गर्भ गृह पर फोकस

अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण 30% पूरा, अब रामलला के गर्भ गृह पर फोकस

राम मंदिर का निर्माण कार्य लगभग 30 प्रतिशत पूरा हो चुका है. (फोटो- निमीश गोस्वामी)

राम मंदिर का निर्माण कार्य लगभग 30 प्रतिशत पूरा हो चुका है. (फोटो- निमीश गोस्वामी)

रामलला के मंदिर का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है. यहां रामलला के गर्भ गृह और रिटेनिंग वॉल पर कार्यदाई संस्था और ट्रस् ...अधिक पढ़ें

अयोध्या. उत्तर प्रदेश के अयोध्या (Ayodhya News) में रामलला के मंदिर (Ram Mandir) निर्माण की प्रक्रिया तेजी से चल रही है. मंदिर का निर्माण कार्य लगभग 30 प्रतिशत पूरा हो चुका है. यहां बुनियाद भरे जाने के बाद राफ्ट का काम पूरा हो चुका है और अब उसके ऊपर प्लिंथ बनाई जा रही है. ये प्लिंथ जमीन से साढ़े 6 मीटर ऊंची होगी. प्लिंथ के पत्थरों को मिर्जापुर के बलुआ पत्थरों से ऊंचा किया जा रहा है और इसके ऊपर ग्रेनाइट पत्थर लगाए जाएंगे.

मंदिर निर्माण समय में हो इसको लेकर लगातार बैठकों का दौर चल रहा है. भवन निर्माण समिति ट्रस्ट के पदाधिकारियों के साथ प्रत्येक माह स्थलीय निरीक्षण और कार्य की प्रगति तथा आने वाली बाधाओं पर चर्चा करती है, जिसमें कार्यदाई संस्था के इंजीनियर और वैज्ञानिक भी शामिल होते हैं. फिलहाल प्राथमिकता के तौर पर मंदिर निर्माण क्रमबद्ध तरीके से किया जा रहा है.

मंदिर निर्माण के साथ सरयू की जलधारा से मंदिर को हजारों वर्षों तक सुरक्षित रखने के लिए जमीन के 50 मीटर नीचे रिटेनिंग वॉल बनाई जा रही है, जो रामलला के मंदिर की नींव को सरयू की जलधारा से बचाएगी. इसके बाद पत्थरों को निर्माणाधीन स्थल तक लाया जाएगा. उन पत्थरों को भी निर्माणाधीन स्थल के आसपास ही रखा जाएगा, जिनकी जरूरत के हिसाब से आसानी पूर्वक उपलब्धता हो सके.

आपके शहर से (अयोध्या)

अयोध्या
अयोध्या

आधुनिक टेक्नोलॉजी से मंदिर निर्माण की प्रक्रिया को क्रमबद्ध तरीके से जोड़ा जाए और मंदिर अनंत काल तक सुरक्षित रहे इसको लेकर ट्रस्ट काफी लंबे समय से मंथन कर रहा है. राम मंदिर के गर्भ ग्रह और रिटेनिंग वॉल का काम पूरा होने के बाद श्रद्धालुओं की मूलभूत सुविधाओं को लेकर के संपूर्ण 70 एकड़ में काम होना है, जिसके लिए एक कार्य के समापन के साथ दूसरे कार्य को प्रारंभ किया जाएगा. मंदिर परिसर में ही संस्कृत विद्यालय, गौशाला, पाठशाला, श्रद्धालुओं की मूलभूत सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए मंदिर परिसर का विकास किया जा रहा है.

राम मंदिर का निरीक्षण करने पहुंचे ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल ने बताया कि 28-29 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो गया है. एक वैश्विक महामारी जो गई है उससे ना केवल राम जन्मभूमि का कार्य प्रभावित हुआ, बल्कि पूरा विश्व प्रभावित हो गया. हम लोगों की पहले की जो योजना थी वह भी इस महामारी से प्रभावित हुई. हालांकि इसके बावजूद हम लोगों का जो लक्ष्य है, उस हिसाब से तेज गति से काम चल रहा है. वह कहते हैं, ‘विभिन्न प्रकार की बाधाओं के बावजूद हमारी भवन निर्माण समिति ने काफी तत्परता से कार्य को आगे बढ़ाया है. राम जन्मभूमि के लिए यह कार्य सदियों तक समाज को प्रेरणा देता रहेगा, इसीलिए निर्माण कार्य में लगे हुए लोग और भवन निर्माण समिति हर एक बिंदु पर गंभीरता से विचार करती है.

Tags: Ayodhya Big News, Ram Mandir

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें