लाइव टीवी

राम जन्मभूमि विवाद: वेदांती बोले, अयोध्या के संतों को भी SC के फैसले का इंतजार

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 6, 2019, 5:55 PM IST
राम जन्मभूमि विवाद: वेदांती बोले, अयोध्या के संतों को भी SC के फैसले का इंतजार
रामजन्मभूमि न्यास के वरिस्ठ सदस्य और बीजेपी के पूर्व सांसद डॉ रामविलास दास वेदांती (फाइल फोटो)

इससे पहले शनिवार को गोरखपुर (Gorakhpur) में उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister of Uttar Pradesh Yogi Adityanath) ने कहा कि भगवान राम (Lord Ram) की शक्ति से आने वाले समय में हम लोगों को बहुत अच्छी खुशखबरी सुनने को मिल सकती है.

  • Share this:
अयोध्या. अयोध्या (Ayodhya) में रविवार को रामजन्मभूमि न्यास (ram janmabhoomi nyas) के वरिष्ठ सदस्य और बीजेपी के पूर्व सांसद डॉ रामविलास दास वेदांती ने बड़ा बयान दिया है. वेदांती ने कहा कि नासा (NASA) के उपग्रह ने बताया था कि जहां रामलला विराजमान हैं, उसके नीचे भगवान शंकर का मंदिर है. रामविलास वेदांती आगे कहते हैं कि अयोध्या के संतों को भी सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले का इंतजार है. उन्होंने दावा करते हुए कहा कि संतों को पूर्ण विश्वास है कि रामलला के पक्ष में फैसला आएगा. वेदांती ने दावा करते हुए कहा कि 17 अक्टूबर के पहले कुछ न कुछ जरूर निर्णय होगा.

बीजेपी के पूर्व सांसद डॉ रामविलास दास वेदांती ने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेसी नेता कपिल सिब्बल व राजीव धवन हमेशा से षड्यंत्र कर रहे हैं. इससे पहले कांग्रेसी नेता जानबूझकर मुकदमे को लटकाने की कोशिश कर रहे थे. इससे पहले शनिवार को गोरखपुर में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister of Uttar Pradesh Yogi Adityanath) ने कहा था कि भगवान राम की शक्ति से आने वाले समय में हम लोगों को बहुत अच्छी खुशखबरी सुनने को मिल सकती है.

सीएम योगी ने कहा था कि प्रभु श्री राम मर्यादा के आदर्श हैं, जीवन में जब भी कोई कष्ट आता है तो हमें भगवान राम के जीवन से जुड़े प्रसंग से प्रेरणा मिलती है. साथ ही सीएम ने कहा कि राम प्रत्येक व्यक्ति के घर-घर और सांस- सांस में बसे हैं.

बता दें कि रामजन्म भूमि-बाबरी मस्जिद विवाद (Ram Janm Bhoomi Babri Masjid) की सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में सुनवाई जारी है. इससे पहले मुस्लिम पक्ष अपने दिए उस बयान से पीछे हट गया कि अयोध्या (Ayodhya) के विवादित स्थल के बाहरी हिस्से में स्थित ‘राम चबूतरा’ ही भगवान राम का जन्मस्थल है. साथ ही उसने भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) की उस रिपोर्ट पर सवाल उठाए जिसमें संकेत दिया गया है कि यह ढांचा बाबरी मस्जिद (Babri Masjid) से पहले स्थित था.

ये भी पढ़ें:

UP: बाहुबली नेता रमाकांत यादव और फूलन देवी की बहन समेत कई नेताओं ने थामा सपा का दामन

बदायूं तहसील में बकाएदार किसान की मौत, वीडियो जारी करके मांगी थी मदद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 6, 2019, 5:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर