होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Rashifal: कल से शनिदेव कर रहे हैं राशि परिवर्तन, इन राशियों पर लगेगी साढ़ेसाती, जानें बचने के उपाय

Rashifal: कल से शनिदेव कर रहे हैं राशि परिवर्तन, इन राशियों पर लगेगी साढ़ेसाती, जानें बचने के उपाय

शनि देव की फाइल तस्वीर

शनि देव की फाइल तस्वीर

अयोध्या के ज्योतिषाचार्य पंडित कल्कि राम बताते हैं कि शनि देव को राशि परिवर्तन के दौरान कुछ राशियों पर साढ़ेसाती लगेगी. ...अधिक पढ़ें

    सर्वेश श्रीवास्तव

    अयोध्या. मंगलवार 17 जनवरी को सबसे बड़ा राशि परिवर्तन होने जा रहा है. इस दिन शनिदेव कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे. ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक शनिदेव को न्याय का देवता और बहुत क्रूर ग्रह माना जाता है. ऐसी स्थिति में शनि देव को ग्रह परिवर्तन करना कई राशियों के लिए कष्टदायक है, तो कुछ राशियों के लिए लाभदायक है. जानते हैं आखिर शनि देव के राशि परिवर्तन के दौरान किन-किन राशियों पर साढ़ेसाती लगेगी और उनको इस साढ़ेसाती से बचने के लिए क्या उपाय करने चाहिए.

    उत्तर प्रदेश के अयोध्या के ज्योतिषाचार्य पंडित कल्कि राम बताते हैं कि मेष राशि, वृश्चिक, मकर, सिंह, तुला, कुंभ, धनु राशि के लिए शनिदेव का राशि परिवर्तन करना साढ़ेसाती ला सकता है. ऐसे में कुछ उपाय करने से भगवान शनिदेव प्रसन्न होते हैं. ज्योतिषाचार्य पंडित कल्कि राम बताते हैं कि सनातन धर्म में भगवान शनिदेव का विशिष्ट स्थान है. इनके बारे में कहा जाता है यह तिलक बाद में करते हैं और राजा पहले बना देते हैं. भगवान शनिदेव अगर प्रसन्न हैं तो मनुष्य को क्षण मात्र में कुछ भी दे सकते हैं और अगर रूठे गए तो मनुष्य को मौत के मुंह में धकेल देते हैं.

    आपके शहर से (अयोध्या)

    अयोध्या
    अयोध्या

    कैसे करें शनि की कुदृष्टि से बचाव?

    ज्योतिषाचार्य पंडित कल्कि राम बताते हैं कि शनि देव को राशि परिवर्तन के दौरान कुछ राशियों पर साढ़ेसाती लगेगी. ऐसी स्थिति में उन राशि के जातकों को शनिवार के दिन दीपक जलाना जलाना चाहिए. बहते हुए नदी में काले कपड़े में काला तिल, लोहे की एक कील और काला उड़द बांध कर प्रवाहित करना चाहिए. शनि स्रोत का पाठ करना चाहिए. इसके अलावा, शनिवार के दिन पीपल का वृक्ष लगाना चाहिए. सुबह जल्दी उठकर स्नान ध्यान कर भगवान शनि देव के वैदिक मंत्रों का जप करना चाहिए. ऐसा करने से भगवान शनिदेव प्रसन्न होते हैं और अपने भक्तों का दुख दूर करते हैं.

    इन मंत्रों का अवश्य करें जप

    ॐ शं शनिश्चराय नम:
    अपराधसहस्त्राणि क्रियन्तेऽहर्निशं मया।
    दासोऽयमिति मां मत्वा क्षमस्व परमेश्वर।।
    गतं पापं गतं दु:खं गतं दारिद्रय मेव च।
    आगता: सुख-संपत्ति पुण्योऽहं तव दर्शनात्।।
    ऊँ त्रयम्बकं यजामहे सुगंधिम पुष्टिवर्धनम।
    उर्वारुक मिव बन्धनान मृत्योर्मुक्षीय मा मृतात ।
    ॐ शन्नोदेवीरभिष्टय आपो भवन्तु पीतये।
    शंयोरभिश्रवन्तु नः।
    ऊँ शं शनैश्चराय नमः।
    ऊँ नीलांजनसमाभासं रविपुत्रं यमाग्रजम्‌।
    छायामार्तण्डसम्भूतं तं नमामि शनैश्चरम्‌।

    (नोट: यहां दी गई जानकारी मान्यताओं पर आधारित है. न्यूज़ 18 लोकल इसकी पुष्टि नहीं करता है)

    Tags: Astrology, Ayodhya News, Shanidev, Up news in hindi, Varshik Rashifal

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें