अपना शहर चुनें

States

अयोध्या के संत की राष्ट्रपति कोविंद से गुहार, शबनम की फांसी की सजा माफ करने की अपील

अयोध्या के संत ने राष्ट्रपति  से की शबनम को माफ करने की अपील.
अयोध्या के संत ने राष्ट्रपति से की शबनम को माफ करने की अपील.

जगत गुरु परमहंस दास का कहना है कि शबनम (Shabnam) को अब तक जो सजा मिला है शायद उसका प्रायश्चित हो चुका है.  राष्ट्रपति शबनम की सजा माफ कर दें. 

  • Share this:
अयोध्या. 2008 में अपने पूरे परिवार का प्रेमी के साथ मिलकर निर्मम हत्या करने वाली शबनम (Shabnam)  को जल्द ही फांसी की सजा दी जा सकती है. इसके लिए मथुरा जेल में तैयारियां भी शुरू कर दी गई है. लेकिन शबनम के बेटे ने राष्ट्रपति से अपील की थी कि उसकी मां को माफ कर दिया जाए. अब अयोध्या के संत परमहंस दास ने भी अपील की है कि शबनम को महिला होने के नाते एक बार माफ किया जाना चाहिए. परमहंस दास का कहना है देश में पहली बार ऐसा हो रहा है कि किसी महिला को फांसी होने जा रही है. भले ही उसका अपराध बहुत बड़ा हो लेकिन उसकी फांसी को सजा देना उचित नहीं होगा.

महंत परमहंस दास ने वेदों और पुराणों में स्त्री का स्थान पुरुषों से हजार गुना अधिक बताया है. उनका कहना है कि हिंदू धर्माचार्य होने के नाते मैं राष्ट्रपति से अपील करता हूं कि शबनम की दया याचिका स्वीकार कर लिया जाए. शबनम की फांसी की सजा माफ कर दिया जाए. साथ ही परमहंस दास का मानना है कि इतने दिनों से जो सजा मिली है वह पर्याप्त है. अब उसको जीवन दान राष्ट्रपति को देना चाहिए. दरअसल, शबनम के पुत्र ने राष्ट्रपति से अपील की थी कि शबनम की सजा माफ कर दिया जाए. देश की निचली अदालत से लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा शबनम को दोषी  करार दिया गया है.





शबनम ने की थी 7 लोगों की हत्या
उत्तर प्रदेश के अमरोहा डिस्ट्रिक्ट के बावन खेड़ी गांव में 15 अप्रैल 2008 को शबनम और उसके प्रेमी ने मिलकर अपने ही परिवार के 7 लोगों की निर्मम हत्या कर दी थी. इसमें निचली अदालत से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक ने शबनम के अपराध पर उसे फांसी की सजा सुनाई. राष्ट्रपति ने भी शबनम की दया याचिका खारिज करते हुए फांसी की सजा को बरकरार रखा था. मथुरा में शबनम को फांसी देने की तैयारी शुरू कर दी गई. अगर शबनम को फांसी होती है तो आजाद भारत में पहली बार किसी महिला को फांसी दी जा रही है.

ये भी पढ़ें: Una News:सेना भर्ती की ग्राउंड प्रैक्टिस में बवाल, जमकर चले लात-घूंसे, देखें Viral Video

शबनम को जीवनदान दें: जगत गुरु परमहंस दास

जगत गुरु परमहंस दास ने कहा कि भारत में पहला ऐसा मौका होगा जब किसी महिला को फांसी होने जा रही है. अपराधी को दंड जरूर मिलना चाहिए. परमहंस दास ने कहा कि पहली बार भारत में किसी महिला को फांसी की सजा दी जा रही है, लेकिन भारत के संविधान में यह उपलब्धि है कि राष्ट्रपति इस सजा को समाप्त कर सकते हैं. इसलिए भले ही शबनम का दोष माफी योग्य ना हो लेकिन उसको माफ किया जाना चाहिए. जगतगुरु आचार्य ने कहा कि वेदों और पुराणों में महिलाओं का स्थान पुरुषों से हजारों गुना श्रेस्ठ है. राष्ट्रपति महोदय से यह अपील करता हूं कि शबनम को क्षमा किया जाए. परमहंस दास ने कहा कि शबनम को अब तक जो दंड मिला है शायद उसका प्रायश्चित हो चुका है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज