लाइव टीवी

अयोध्या में सरयू की रेत पर काकोरी के शहीदों सैंड आर्टिस्ट ने दी श्रद्धांजलि

KB Shukla | News18 Uttar Pradesh
Updated: December 16, 2019, 2:58 PM IST
अयोध्या में सरयू की रेत पर काकोरी के शहीदों सैंड आर्टिस्ट ने दी श्रद्धांजलि
अयोध्या में सरयू तट पर सैंड आर्टिस्ट ने काकोरी के शहीदों को दी श्रद्धांजलि

बता दें 'अवाम का सिनेमा' के बैनर तले 13वां अयोध्या फ़िल्म फेस्टिवल 16 से 18 दिसंबर तक डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के स्वामी विवेकानंद सभागार में आयोजित किया जा रहा है. फिल्म फेस्टिवल के मौके पर यह कार्यक्रम आयोजित किया गया.

  • Share this:
अयोध्या. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अयोध्या (Ayodhya) में गुप्तार घाट पर सरयू नदी (Saryu River) के रेत में विश्व प्रसिद्ध सैंड आर्टिस्ट हिमांशु परिदा (Sand Artist Himanshu Parida) ने अपनी कलाकृतियों के माध्यम से काकोरी (Kakori) के शहीद महानायकों को श्रद्धांजलि दी. राम नगरी का गुप्तार घाट क्षेत्र का रेतीला इलाका इस श्रद्धांजलि का गवाह बना. प्रसिद्ध सैंड आर्टिस्ट हिमांशु परिंदा ने राम नगरी पहुंच काकोरी के महानायकों को अपनी कला के माध्यम से श्रद्धांजलि देने के लिए गुप्तार घाट इलाके का चयन किया. नदी की धाराओं के बीच गुप्तार घाट पर स्थित मंदिरों के ठीक सामने रेत पर सेंड आर्टिस्ट्स की ओर से उकेरे गए पंडित राम प्रसाद बिस्मिल, रोशन सिंह, राजेंद्र लाहिड़ी और अशफाक उल्ला खान के चित्र को देखने के लिए मंडलायुक्त एमपी अग्रवाल व अन्य अधिकारियों के साथ शहर के तमाम लोग पहुंचे.

लोगों ने सैंड आर्टिस्ट के कलाकारी की प्रशंसा की और काकोरी के महानायकों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की. बता दें 'अवाम का सिनेमा' के बैनर तले 13वां अयोध्या फ़िल्म फेस्टिवल 16 से 18 दिसंबर तक डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के स्वामी विवेकानंद सभागार में आयोजित किया जा रहा है. फिल्म फेस्टिवल के मौके पर यह कार्यक्रम आयोजित किया गया. 19 दिसंबर को अशफाक उल्ला खा को लेकर कार्यक्रम आयोजित किया जाता है. यह मौका शहीदों को नमन करने के साथ ही पौराणिक नगरी अयोध्या की जीवनधारा पुण्य सलिला सरयू की रेत पर शहीदों के देश प्रेम को उकेरने का भी है.

हिमांशु कहते हैं कि उनके बाबा इस विधा के माहिर कलाकार थे. उन्होंने विरासत में यह कला सीखी है और पहली बार मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या में उस जगह जहां राम ने समाधि ली थी, अपनी कला को सार्वजनिक किया है. इस कला के माध्यम से काकोरी कांड के नायकों को श्रद्धांजलि दी है. मंडलायुक्त एमपी अग्रवाल ने कहा कि अयोध्या विश्व की नजरों में है. यह भगवान श्रीराम की जन्मभूमि है. गुप्तार घाट के पौराणिक महत्व को कौन नहीं जानता. आजादी के महानायक को पंडित राम प्रसाद बिस्मिल, रोशन सिंह, राजेंद्र लाहिड़ी और अशफ़ाक उल्लाह खां ने काकोरी कांड को अंजाम दिया था. अमर शहीद अशफाक को यही कि जेल में फांसी दी गई थी. कलाकृति के माध्यम से आजादी के शहीदों को श्रद्धांजलि अनोखी पहल है.

ये भी पढ़ें:

BJP के इस नेता द्वारा जुटाए गए दस्तावेजों से अब्दुल्ला आजम की हुई विधायकी रद्द

CAA Protest: बढ़ते बवाल को देख अब UP के सभी जिलों में लगाई गई धारा 144

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 16, 2019, 2:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर