सरयु महोत्सव: 2100 बत्ती से की गई महाआरती, सोशल डिस्टेंसिंग के साथ हुआ दुग्ध अभिषेक
Ayodhya News in Hindi

सरयु महोत्सव: 2100 बत्ती से की गई महाआरती, सोशल डिस्टेंसिंग के साथ हुआ दुग्ध अभिषेक
आरती के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन किया गया.

महंत शशिकांत दास के मुताबिक सरयू के अवतरण दिवस के दिन बड़ी संख्या में श्रद्धालु सरयू के घाटों पर आते थे और विशेष आरती के साथ धार्मिक अनुष्ठानों का आयोजन भी किया जाता था.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
अयोध्या. उत्तर प्रदेश के अयोध्या में सरयू नदी के अवतरण दिवस पर अयोध्या में सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) और लॉकडाउन (Lockdown 5.0) के नियमों का पालन करते हुए सरयू माता की विशेष आरती और दुग्ध अभिषेक किया गया. माना जाता है कि भगवान राम के साथ माता सरयू का ज्येष्ठ की पूर्णिमा को ही धरती पर अवतरण हुआ था. इसके बाद से जेष्ठ की पूर्णिमा को सरयू मां का अवतरण दिवस मनाया जाता है. बाकि दिनों में इस कार्यक्रम में खुद प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ अयोध्या में होते थे और सरयू माता की आरती और पूजन करते थे. लेकिन इस बार कोरोना वायरस के चलते इस कार्यक्रम पर भी प्रभाव पड़ा है.

इस बार माता सरयू के अवतरण दिवस को साधारण ढंग से मनाया गया. सुबह से ही माता सरयू का दुग्धाभिषेक किया गया और शाम को विशेष  2100  बस्ती कीआरती की गई. इस दरमियान उपस्थित श्रद्धालुओं ने लॉकडाउन के नियमों का पालन किया और माता सरयू की भव्य आरती में शामिल भी हुए. महंत शशिकांत दास ने बताया कि अवध की पहचान माता सरयू से है. गुरु वशिष्ठ को सरयू जी अति प्रिय थीं. बिना सरयू के गुरु वशिष्ठ नहीं रहते थे. ब्रह्मा जी के द्वारा आज के दिन ही माता सरयू को पृथ्वी पर भेजा गया था. गुरु पूर्णिमा के दिन ही माता सरयू का अवतरण दिवस माना जाता है.

सरकार की गाइडलाइन का किया गया पालन



महंत शशिकांत दास के मुताबिक सरयू के अवतरण दिवस के दिन बड़ी संख्या में श्रद्धालु सरयू के घाटों पर आते थे और विशेष आरती के साथ धार्मिक अनुष्ठानों का आयोजन भी किया जाता था. आज के दिन अयोध्या में मुख्यमंत्री उपस्थित रहते हैं. जब से गोरक्षा पीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री पद का ग्रहण किया था तब से सरयू की महाआरती में अवतरण दिवस के दिन जरूर अयोध्या में उपस्थित रहे थे, लेकिन इस बार कोरोना वायरस के वजह से इस कार्यक्रम को भी सीमित रखा गया. सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन नियमों का पालन करते हुए माता सरयू की भव्य आरती की गई. इस दरमियान उपस्थित श्रद्धालुओं ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया.



इस बार कोरोना वायरस के चलते इस कार्यक्रम पर भी प्रभाव पड़ा है.


महंत ने बताया कि जिस संख्या में श्रद्धालु अन्य दिनों में उपस्थित रहते थे आज नहीं हैं. 8 जून के बाद सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार ही धार्मिक स्थलों पर श्रद्धालुओं को लॉकडाउन के नियम के तहत ही पूजा- पाठ की अनुमति होगी. सरयू जी की महाआरती कराने वाले महंत शशि कांत दास ने लोगों से अपील भी की है कि सरयू के अवतरण दिवस के दिन अपने-अपने घरों से ही मां सरयू को नमन करें.

ये भी पढ़ें: 

एटलस कंपनी मामला: जब सियासी पारा गरमाया तो श्रम विभाग ने कंपनी को जारी किया नोटिस

भोपाल: मोबाइल बनेगा मेडिकल गाइड, अब एक क्लिक में मिलेगी पास के अस्पताल की लिस्ट
First published: June 5, 2020, 8:48 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading