लाइव टीवी

सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले अयोध्या में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाबल तैनात, RAF ने भी संभाला मोर्चा

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 7, 2019, 7:44 AM IST
सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले अयोध्या में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाबल तैनात, RAF ने भी संभाला मोर्चा
जनपद के लगभग दो सौ स्कूलों में सुरक्षाबलों को ठहराया जा रहा है. रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, होटल, धर्मशाला सभी पर पुलिस की नजर है. (Photo- ANI)

अयोध्या की सुरक्षा में सिविल पुलिस के साथ पीएसी (PAC), आरएएफ (RAF) को लगाया गया है. साथ ही ड्रोन कैमरे से अयोध्या की निगरानी की जा रही है.

  • Share this:
अयोध्या. अयोध्या विवाद मामले (Ayodhya Land Dispute) में 17 नवंबर तक सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) अपना फैसला सुना सकता है. संभावित फैसले को लेकर प्रदेश के एडीजी अभियोजन आशुतोष पांडे ने अयोध्या (Ayodhya) पहुंचकर कमान संभाल ली है. अयोध्या की सुरक्षा को लेकर एडीजी अभियोजन आशुतोष पांडे ने सर्किट हाउस में पुलिस अधिकारियों के साथ मीटिंग भी की. अयोध्या की सुरक्षा में सिविल पुलिस के साथ पीएसी (PAC), आरएएफ (RAF) को लगाया गया है. इसके साथ ही एटीएस (ATS) भी अयोध्या पर नजर रख रही है. खुफिया एजेंसी को सतर्क रखा गया है. ड्रोन कैमरे से अयोध्या की निगरानी की जा रही है.

बुधवार को अयोध्या की सड़कों पर आरएएफ की टीमें नजर आईं. सुरक्षा व्यवस्था में तैनात इन टीमों की चप्पे-चप्पे पर नजर है, जिससे किसी भी अप्रिय स्थिति से समय रहते निपटा जा सके. अयोध्या के एसएसपी आशीष तिवारी ने बताया कि अयोध्या के सभी एंट्री पॉइंट पर बैरियर लगाकर चेकिंग की जाएगी. भारी संख्या में पीएसी के जवान अयोध्या पहुंच चुके हैं. जनपद के लगभग दो सौ स्कूलों में सुरक्षाबलों को ठहराया जा रहा है. रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, होटल, धर्मशाला सभी पर पुलिस की नजर है.

प्रशासन कोशिश कर रहा है अस्पताल, स्कूल खुले रहें
उन्होंने कहा कि अयोध्या के चप्पे-चप्पे पर पुलिस की नजर होगी. हालांकि जिला प्रशासन कोशिश कर रहा है कि अस्पताल स्कूल खुले रहें और अयोध्या का वातावरण सामान्य रहे. बता दें, एडीजी अभियोजन आशुतोष पांडे पूर्व में अयोध्या में हुए धर्म संसद को सकुशल संपन्न करा चुके हैं. जिससे एक बार फिर शासन ने आशुतोष पांडे पर भरोसा जताया है.

सोशल मीडिया पर पुलिस की पैनी नजर, 16 हजार स्वयंसेवी तैनात
पहले फैजाबाद पुलिस ने सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक सामग्री पर नजर रखने के लिए 16 हजार स्वयंसेवियों को तैनात किया है. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी ने बताया कि राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर जब आदेश आयेगा, उस समय शांति कायम रखने के लिए जिले के 1,600 स्थानों पर भी इतनी ही संख्या में स्वयंसेवियों को रखा गया है.

ये भी पढ़ें-
Loading...

अयोध्या मामलाः भड़काऊ मैसेज या पोस्टर लगे तो होगी सख्त कार्रवाई

रामजन्मभूमि विवाद फैसले से पहले अयोध्या में शुरू हुई 14 कोसी परिक्रमा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 7, 2019, 7:40 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...