लाइव टीवी

अयोध्या मामले से जुड़े भड़काऊ सोशल मीडिया मैसेज या पोस्टर लगे तो होगी सख्त कार्रवाई

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 4, 2019, 1:36 PM IST
अयोध्या मामले से जुड़े भड़काऊ सोशल मीडिया मैसेज या पोस्टर लगे तो होगी सख्त कार्रवाई
अयोध्या में विवादित सोशल मीडिया मैसेज और पोस्टरों पर लगी रोक. (प्रतीकात्मक फोटो)

जिलाधिकारी (DM) ने जारी किया आदेश (Order), 28 दिसंबर तक लागू रहेगा.

  • Share this:
अयोध्या. अयोध्या मामले को लेकर सांप्रदायिक सौहार्द न बिगड़े इसको लेकर अब प्रशासन ने कमर कस ली है. अब अयोध्या (Ayodhya) के मजिस्ट्रेट, अनुज कुमार झा ने विवादित भूमि से जुड़े किसी भी तरह के भड़काऊ सोशल मीडिया मैसेज (Social Media) या विवादित पोस्टरों पर रोक लगा दी है. यह नियम 28 दिसंबर तक लागू रहेगा. आदेश के मुताबिक, भूमि विवाद से जुड़े ऐसे कोई भी संदेश नहीं भेजे जा सकते जिनसे सांप्रदायिक सौहार्द बिगड़ सकता है. आदेश में कहा गया है कि यदि कोई नियम का उल्लंघन करते हुए पकड़ा जाएगा तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

दरअसल, अयोध्या विवादित मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी हो गई है. अब कोर्ट कभी भी मामले में फैसला दे सकता है. ऐसे में प्रशासन को सांप्रदायिक सौहार्द बिगड़ने की आशंका है. यही वजह है कि मजिस्ट्रेट ने अयोध्या में विवादित भूमि से जुड़े भड़काऊ सोशल मीडिया मैसेज और पोस्टरों पर प्रतिबंध लगा दिया है.



जीत का जश्न नहीं होना चाहिए
Loading...

बता दें कि शनिवार को केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा था कि अयोध्या विवाद का फैसला आने वाला है. इसकी मैं कोई भविष्यवाणी नहीं कर सकता हूं, क्योंकि मैं कोई भविष्यवक्ता नहीं हूं. उन्होंने कहा था कि ऐसे संवेदनशील मौकों पर जीत का जश्न नहीं होना चाहिए. एक बात जरूर कहूंगा कि फैसला चाहे जिसके पक्ष में आए लोगों को जीत का जुनूनी जश्न नहीं मनाना चाहिए और न ही हार का हुड़दंग मचाना चाहिए. संवेदनशील मामले पर फैसला जो भी आए, लोगों को उसका सम्मान करते हुए सौहार्द्र की मिसाल पेश करनी चाहिए.

ये भी पढ़ें-  कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक के सोशल मीडिया अकाउंट, ईमेल हैक

छात्रवृत्ति घोटाला: गीताराम नौटियाल को 14 दिन की न्यायिक हिरासत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 4, 2019, 12:39 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...