अयोध्या: दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्री सुह वुक ने रानी हो को दी श्रद्धांजलि, बोले- ताजमहल की तरह होगा रानी का स्मारक

दक्षिण कोरिया के रक्षामंत्री सुह वुक अयोध्या में रानी हो के स्मारक स्थल पहुंचे.

दक्षिण कोरिया के रक्षामंत्री सुह वुक अयोध्या में रानी हो के स्मारक स्थल पहुंचे.

Ayodhya: भारत के दौरे पर आए दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्री सुह वुक ने अयोध्या में निर्माणाधीन रानी हो के पार्क का निरीक्षण किया. उन्होंने रानी हो के स्मारक स्थल पर उन्हें श्रद्धांजलि दी. उन्होंने कहा कि अयोध्या का स्मारक ताजमहल की तरह होगा.

  • Last Updated: March 27, 2021, 6:59 PM IST
  • Share this:
अयोध्या. साउथ कोरिया  (South Korea) के रक्षा मंत्री सुह वुक (defense minister Suh Wook) ने शनिवार को अपने अयोध्या दौरे के दौरान कहा कि जिस तरह भारत में ताजमहल प्यार की निशानी के तौर पर प्रसिद्ध है. उसी तरह दक्षिण कोरिया की महारानी हो (Ho the queen of south korea) का स्मारक भी होगा. अपने लगभग 1 घंटे के अयोध्या प्रवास के दौरान उन्होंने महारानी हो के स्मारक और पार्क गए और वहां हो रहे विकास कार्यो का जायजा लिया. रक्षामंत्री सुह वुक ने महारानी हो के स्मारक पर पुष्प अर्पित कर उन्हें और भारत-दक्षिण कोरिया के रिश्ते को याद किया.

साउथ कोरिया के रक्षा मंत्री सुह वुक शनिवार को लगभग 2 बजे अयोध्या पहुंचे. अयोध्या हवाई पट्टी पर भाजपा सांसद, विधायकों और वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों ने उनकी अगवानी और स्वागत किया. इस दौरान दक्षिण कोरिया की यात्रा कर चुके अयोध्या के राजा विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र भी मौजूद थे. हवाई पट्टी से रक्षा मंत्री सुह वुक सीधे सरयू किनारे बने रानी हो के स्मारक पर पहुंचे और उनको श्रद्धांजलि देते हुए पुष्प अर्पित किए. इस दौरान दक्षिण कोरिया की राष्ट्र धुन भी गुनगुनायी.

Ayodhya, South Korea, Minister of Defense, Suh Wook, Rani Ho, Tribute, Taj Mahal, Queen's Memorial, Ayodhya Sriram temple
दक्षिण कोरिया के रक्षामंत्री सुह वुक अयोध्या में रानी हो के स्मारक को ताजमहल जैसा बनाने की बात कही.


क्वीन हो को बताया भारत-दक्षिण कोरिया के बीच सेतु 
इसके बाद उन्होंने रानी हो स्मारक और रानी हो पार्क का निरीक्षण किया और भारत और दक्षिण कोरिया के रिश्तों में उनको वह सेतु बताया, जिससे सदियों से भारत और दक्षिण कोरिया जुड़े हुए हैं. भारत और कोरिया की साझा सांस्कृतिक धरोहर और संस्कृति के जुड़ाव की भी उन्होंने भ्रमण के दौरान चर्चा की.  इसके बाद दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्री लगभग 1 घंटे अयोध्या में रहने के बाद लखनऊ के लिए रवाना हो गए.

अयोध्या में रौशन हुआ रानी हो के नाम का दीपक 

आपको बता दे कि अयोध्या में दीपोत्सव के मौके पर भी सुवर्ण रत्ना यानि महारानी हो के नाम का दीपक जलाया गया था. रानी हो अयोध्या से ही धर्म प्रचार के लिए कोरिया गयी थी. गिमहे प्रांत में उनका जहाज दुर्घटनाग्रस्त हो गया. वहां के राजकुमार जिनका नाम सुरों था, उसने सुवर्ण रत्ना को बचाया और उनसे शादी कर ली. आज वहां की लगभग आधी आबादी राजकुमारी की वंशज है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज