Home /News /uttar-pradesh /

stones for ram mandir construction being carved for 30 years in workshop

Ayodhya: राम के मंदिर निर्माण को लेकर पिछले 30 सालों से लगातार चल रही है कार्यशाला, श्रद्धालु भी करते हैं दर्शन

अयोध्‍या में कारसेवक पुरम से कुछ ही दूरी पर स्थित विश्व हिंदू परिषद की कार्यशाला है, जहां लगातार 30 सालों से राम मंदिर निर्माण के लिए रखे गए पत्थरों को तराश कर नक्काशी की जा रही है. यही नहीं, कार्यशाला में प्रतिदिन हजारों श्रद्धालु राम मंदिर में लगने वाले पत्थरों के दर्शन करते हैं.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट: सर्वेश श्रीवास्तव

    अयोध्या. राम मंदिर में लगने वाले पत्थरों के लिए बिना रुके जो 30 सालों से जो कार्यशाला चल रही है आज आपको उसके गौरवशाली इतिहास के बारे में बतातें हैं. कारसेवक पुरम से कुछ ही दूरी पर स्थित है विश्व हिंदू परिषद (VHP) की कार्यशाला है. यह वही जगह है जहां पिछले लगभग 30 सालों से राम मंदिर निर्माण में लगने वाले पत्थरों को तराशा जा रहा है. सितंबर 1990 में परमहंस रामचंद्र दास, महंत नृत्य गोपाल दास, विश्व हिंदू परिषद के अशोक सिंघल के मार्गदर्शन में यह कार्यशाला स्थापित की गई थी.

    वहीं राम मंदिर के निर्माण की तैयारियों को लेकर यह कार्यशाला प्रमुख केंद्र रही है.1992 से अयोध्या आने वाले पर्यटक या श्रद्धालु इस कार्यशाला में भी हजारों की संख्या में आने लगे. कार्यशाला में आते ही श्रद्धालुओं को वहां उपस्थित लोग यह भी बताते हैं कि इस तरह का पत्थर भगवान राम के मंदिर में लगेंगे.

    हालांकि विश्व हिंदू परिषद के प्रांतीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा बताते हैं कि इस कार्यशाला का नामकरण पंजाब कार्यसेवा शब्द से लिया गया है. इसी शब्द से कार्यशाला और कारसेवक पुरम का नाम स्थापित किया गया था. 1990 में जब प्रथम कार्यसेवा के दौरान अयोध्या में गोलियां चली थीं तब भी यह कार्यशाला बंद नहीं हुई थी. इसके अलावा कार्यशाला में प्रतिदिन हजारों श्रद्धालु राम मंदिर में लगने वाले पत्थरों का दर्शन करते हैं. 1990 से लेकर अभी तक कार्यशाला में पत्थरों को तराशा जा रहा है.

    जानिए कहां स्थित है कार्यशाला
    यह कार्यशाला राम की पैड़ी से लगभग 2 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है कारसेवक पुरम के पास है.

    Ayodhya news

    Tags: Ayodhya latest news, Ayodhya ram mandir

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर