Assembly Banner 2021

रामलला के मंदिर निर्माण के लिए मिर्जापुर से लाए जाएंगे नींव में लगाए जाने वाले पत्थर

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

Ram Mandir Nirman: उत्तर प्रदेश के अयोध्या (Ayodhya) में श्री राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए मिर्जापुर से पत्थर और जोधपुर के सैंड स्टोन लाने की तैयारी शुरू हो गई है.

  • Share this:
अयोध्या. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अयोध्या (Ayodhya) में श्री राम (Ram) जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए मिर्जापुर से पत्थर और जोधपुर के सैंड स्टोन लाने की तैयारी शुरू हो गई है. हाल में राम जन्मभूमि निर्माण समिति की बैठक में इसको लेकर सहमति बन गई है. इन पत्थरों का उपयोग राम मंदिर के लिए खोदी गयी नींव को भरने के लिए किया जाएगा. पत्थरों को ट्रकों के जरिए राम जन्मभूमि परिसर पहुंचाने के लिए सप्लायर को ऑर्डर भी प्लेस कर दिया गया है.

माना जाता है कि 15 से 20 दिनों के भीतर पत्थरों की खेप आनी शुरू हो जाएगी. निर्माण समिति की बैठक में यह अनुमान भी लगाया गया था कि मार्च तक राम मंदिर की नींव खुदाई का काम पूरा हो जाएगा. बुनियाद के लिए मजबूत मिट्टी भी मिल चुकी है. मार्च में टेस्टिंग के बाद अप्रैल में राम मंदिर की नीव का कार्य शुरू हो जाएगा.

इसमें सबसे पहले खोदी गई भूमि की पत्थरों और मटेरियल से भरने की प्रक्रिया शुरू होगी, जिसमें बड़ी मात्रा में पत्थरों का उपयोग होगा. इसीलिए पत्थरों को राम जन्मभूमि परिसर की अस्थाई कार्यशाला में एकत्रित किया जाएगा और वही से उसे उठाकर नींव में भरा जाएगा.



ऑर्डर की सप्लाई का दिया टारगेट
ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष गोविंद देव गिरी ने बताया कि हमने लोगों को बोल दिया है पत्थर लाने के लिए. जितनी जल्दी वह लोग लाएं, हो सकता है कल परसों में पत्थरों को लाने की तैयारी हो सकती है. हम लोगों की ओर से उन को हरी झंडी मिल गई है. हमने उनसे इतना कह दिया है किसी भी प्रकार से 15 से 20 दिनों के अंदर काम आरंभ हो जाना चाहिए. हम लोग मिर्जापुर के भी पत्थर का उपयोग करेंगे. हम लोग जोधपुर के सैंड स्टोन का भी प्रयोग करेंगे. हम लोग जहां पर आवश्यकता होगी वहां पर अन्य पत्थरों का भी उपयोग होगा. मिर्जापुर के पत्थर को लाने की तो बात है. पत्थरों को ट्रक से ही लाया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज