Home /News /uttar-pradesh /

Ram Mandir: 70 एकड़ में मंदिर का कैसे हो रहा निर्माण, कैसा है मास्टर प्लान, जानें विस्तार से...

Ram Mandir: 70 एकड़ में मंदिर का कैसे हो रहा निर्माण, कैसा है मास्टर प्लान, जानें विस्तार से...

दूसरे दिन की बैठक में मंदिर परिसर की 70 एकड़ जमीन के मास्टर प्लान पर होगी चर्चा.

दूसरे दिन की बैठक में मंदिर परिसर की 70 एकड़ जमीन के मास्टर प्लान पर होगी चर्चा.

Ram Mandir Nirman Samiti : राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय कहते हैं कि राम मंदिर निर्माण समिति की दो दिवसीय बैठक जो शुरू हुई है, उसमें इस बार राम मंदिर निर्माण के अलावा परिसर की 70 एकड़ जमीन के मास्टर प्लान पर चर्चा हो रही है. पहले दिन की बैठक में राम मंदिर निर्माण की चरणबद्ध स्थिति के अलावा पूरे राम जन्मभूमि परिसर में क्या-क्या और कहां निर्माण होना है, इस पर विचार-विमर्श हुआ. 70 एकड़ का लैंडस्केप कैसा होगा, प्लांटेशन कैसा होगा, ऐसी बातों पर आज विस्तार से चर्चा हुई है. कल की बैठक में 70 एकड़ के मास्टर प्लान पर चर्चा होगी.

अधिक पढ़ें ...

अयोध्या. अयोध्या के राम जन्मभूमि परिसर के चारों कोनों पर 4 मंदिरों का निर्माण होगा. श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के चारों तरफ बनने वाले परकोटों के भीतर इन मंदिरों का निर्माण किया जाएगा. यह मंदिर किसके होंगे, अभी इस पर राम मंदिर ट्रस्ट कुछ निर्णय न होने की बात कह रहा है. हालांकि राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय कहते हैं कि राम मंदिर निर्माण समिति की दो दिवसीय बैठक जो शुरू हुई है, उसमें इस बार राम मंदिर निर्माण के अलावा परिसर की 70 एकड़ जमीन के मास्टर प्लान पर चर्चा हो रही है. पहले दिन की बैठक में राम मंदिर निर्माण की चरणबद्ध स्थिति के अलावा पूरे राम जन्मभूमि परिसर में क्या-क्या और कहां निर्माण होना है, इस पर विचार-विमर्श हुआ.

राम मंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्र की अध्यक्षता में हुई बैठक में ट्रस्ट के महासचिव और स्थानीय सदस्यों के अलावा लार्सन एंड टुब्रो और टाटा कंसल्टेंसी के इंजीनियर और विशेषज्ञ भी शामिल थे. मंगलवार को दूसरे दिन होने वाली बैठक में पूरे 70 एकड़ भूभाग में होने वाले निर्माण कार्यों पर गहन चर्चा होगी.

प्रत्येक महीने राम मंदिर निर्माण को लेकर अहम बैठक होती है. इस बैठक की अध्यक्षता श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के पदाधिकारियों और भवन निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्रा करते हैं. इसमें कार्यकारी संस्था के इंजीनियरों की मौजूदगी भी होती है. इसमें प्रथम चरण में राम जन्मभूमि परिसर में मंदिर निर्माण का जायजा ट्रस्ट के पदाधिकारियों के साथ भवन निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्रा लेते हैं और उसके बाद द्वितीय चरण की बैठक सर्किट हाउस में होती है.

राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य डॉ. अनिल मिश्रा ने परकोटा को लेकर बड़ी बात कही है. डॉ. अनिल मिश्रा ने कहा कि परकोटा का काम अभी चल रही है. फाइनल चर्चा चल रही है. परकोटे का जो स्वरूप है, उसमें कुछ मंदिर भी आएंगे. अभी बहुत डिटेलिंग नहीं है. मंदिर के चारों तरफ 4 मंदिरों के आकार बनाए जाएंगे. उसमें कौन से मंदिर होंगे, इस पर अभी कोई चर्चा नहीं हुई है.

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा जो भविष्य में होना है, उस पर अभी चर्चा हुई. मटेरियल कितना आना है, कितना आ गया है, अब तक कौन सी स्टेज पर कितने दिन में काम पूरा हो जाएगा – यह सब बार-बार रिव्यू करना पड़ता है. दूसरी बात 70 एकड़ का लैंडस्केप कैसा होगा, प्लांटेशन कैसा होगा, ऐसी बातों पर आज विस्तार से चर्चा हुई है. कल 70 एकड़ के मास्टर प्लान पर चर्चा होगी.

Tags: Ayodhya News Today, Ayodhya Ram Mandir Construction, Sampat Rai

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर