लाइव टीवी

अयोध्या राम मंदिर निर्माण से पहले VHP​ ने बनाया ये खास प्लान...
Ayodhya News in Hindi

News18Hindi
Updated: January 4, 2020, 9:58 AM IST
अयोध्या राम मंदिर निर्माण से पहले VHP​ ने बनाया ये खास प्लान...
VHP​ ने बनाया 'रामोत्सव' का खास प्लान (File Photo)

शरद शर्मा के मुताबिक ये कोई नया कार्यक्रम आयोजित होने नहीं जा रहा है. इससे पहले साल 2007 में शारदीय नवरात्र में इसकी शुरुआत हुई थी. विश्व हिंदू परिषद के प्रांतीय मीडिया प्रभारी की माने तो कार्यक्रम के दौरान गांव-गांव में भगवान राम की मूर्ती स्थापित होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 4, 2020, 9:58 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर निर्माण (Ram Mandir) से पहले विश्व हिंदू परिषद (VHP) 2.75 लाख गांवों में भगवान राम की प्रतिमा लगाएगा. जानकारी के मुताबिक 25 मार्च से लेकर 8 अप्रैल 'रामनवमी' तक चलने वाले इस कार्यक्रम का नाम 'रामोत्सव' रखा गया है. इस कार्यक्रम में विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय स्तर के सभी पदाधिकारी के साथ संत-महंत शिरकत करेंगे. विश्व हिंदू परिषद के प्रांतीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने न्यूज18 से बातचीत में बताया कि ये कार्यक्रम स्थानीय स्तर पर होंगे, जिसमें इन गांवों में भगवान राम की प्रतिमा लगाना या तस्वीर की पूजा अर्चना की जाएगी. शोभायात्रा निकाली जाएगी, जुलूस या फिर भजन कीर्तन का आयोजन होगा.

शरद शर्मा के मुताबिक ये कोई नया कार्यक्रम आयोजित होने नहीं जा रहा है. इससे पहले साल 2007 में शारदीय नवरात्र में इसकी शुरुआत हुई थी. विश्व हिंदू परिषद के प्रांतीय मीडिया प्रभारी की मानें तो कार्यक्रम के दौरान गांव-गांव में छोटी-बड़ी भगवान राम की मूर्ती की स्थापना मठ और मंदिर में पूजन किया जाएगा. शर्मा के मुताबिक इस साल कार्यक्रम को एक भव्य रूप देने की तैयारी की जा रही है. उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश में 1.5 लाख जगहों पर स्थापित करने की योजना बनाई जा रही है. फिलहाल 20 जनवरी को अयोध्या में बुलाई गई बैठक में आगे की कार्य योजनाओं पर मंथन होगा.

VHP
विहिप केर प्रांतीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा (file photo)


विश्व हिंदू परिषद के प्रांतीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने बताया कि 25 मार्च से लेकर 8 अप्रैल रामनवमी तक चलने वाले इस कार्यक्रम का नाम 'रामोत्सव' रखा गया है. जहां वीएचपी के कार्यकर्ता गांवों में जाकर भगवान राम का जन्मोत्सव मनाएंगे. उन्होंने बताया कि इससे पहले राममंदिर आंदोलन के समय इन गांवों से मंदिर निर्माण के लिए 50 हजार शिलाएं आई थी.



इससे पहले विश्व हिंदू परिषद के मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने कहा कि रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने भगवान राम लला का विवादित फैसला बड़े आसानी से दे दिया कर दिया वह भी सौहार्दपूर्ण वातावरण में, इस कार्य में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह सभी ने अपना भरपूर योगदान दिया. देश को आगे ले जाने के लिए अब सभी रास्ते खुल गए हैं. उन्होंने कहा देश में राम राज्य स्थापित होने जा रहा है 2020 में भगवान राम का भव्य दिव्य मंदिर बनकर तैयार हो जाएगा.

ये भी पढ़ें:

CAA विरोध-प्रदर्शन मामला: मेरठ पुलिस ने PFI के 12 सदस्यों को किया गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 4, 2020, 8:49 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर