अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर VHP की बंगलुरु में अहम बैठक
Ayodhya News in Hindi

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर VHP की बंगलुरु में अहम बैठक
पीएम मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए संसद में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का ऐलान किया.

बैठक शुरू होने से पहले ही विहिप से जुड़े लोग यह संकेत दे रहे हैं कि केंद्र सरकार द्वारा बनाए जाने वाला ट्रस्ट उनके द्वारा प्रस्तावित राम मंदिर मॉडल में परिवर्तन कर सकता है.

  • Share this:
अयोध्या. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का फैसला आने के बाद राम मंदिर (Ram Temple) निर्माण को लेकर विश्व हिंदू परिषद (VHP) के बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज (Board of Trustees) और गवर्निंग काउंसिल (Governing Council) की महत्वपूर्ण बैठक बंगलुरु (Bangluru) में 25 दिसंबर से शुरू हो रही है. 30 दिसंबर तक चलने वाली इस महत्वपूर्ण बैठक में अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर निर्माण को लेकर चिंतन मंथन ही नहीं होगा, बल्कि निर्माण की प्रक्रिया और उसमें विहिप की भूमिका को लेकर भी विचार-विमर्श किया जाएगा.

राम मंदिर मॉडल में बदलाव के संकेत

लेकिन बैठक शुरू होने से पहले ही विहिप से जुड़े लोग यह संकेत दे रहे हैं कि केंद्र सरकार द्वारा बनाए जाने वाला ट्रस्ट उनके द्वारा प्रस्तावित राम मंदिर मॉडल में परिवर्तन कर सकता है. इसको लेकर 20 दिसंबर को अहमदाबाद में राम मंदिर मॉडल से जुड़े आर्किटेक्ट और व्यवस्था व देखरेख से जुड़े लोगों की एक बैठक भी हो चुकी है. जिसमें मंदिर मॉडल को लेकर चर्चा हुई है. वहीं दूसरी तरफ विश्व हिंदू परिषद ने यह साफ कर दिया है कि राम मंदिर निर्माण को लेकर भले ही रामनवमी से शुरू होने की चर्चा है, लेकिन निर्माण की तिथि धार्मिक अनुष्ठानों को आत्मसात कर शुभ मुहूर्त में ही होगा. विहिप ने इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सरसंघचालक मोहन भागवत, देशभर के शंकराचार्य और अखाड़ों के साधु-संतों के मौजूद रहने की इच्छा जताई.



NRC पर भी होगा मंथन
बैठक को लेकर शरद शर्मा ने कहा कि वर्ष में दो बार विश्व हिंदू परिषद की एक गवर्निंग काउंसलिंग की जून महीने में और उसके बाद फिर दिसंबर या जनवरी माह में बैठक होती है. इसमें देश-विदेश से ट्रस्ट से जुड़े लोग बुलाए जाते हैं. इस बार राम मंदिर और NRC पर भी मंथन जरूर किया जाएगा.

संरक्षक मंडल के सदस्य पुरुषोत्तम नारायण सिंह ने कहा कि मंदिर बनने वाला है. उसमें सेंट्रल गवर्नमेंट को अधिकार दिया है. नरेंद्र मोदी गवर्नमेंट हैं, उनको बनाना है. 9 फरवरी तक ट्रस्ट बन जाना चाहिए. राम मंदिर निर्माण पर पुरुषोत्तम नारायण सिंह ने कहा कि मंदिर के मॉडल भी परिवर्तन किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें:

रामलला के मुख्य पुजारी सत्येंद्र दास की तबीयत बिगड़ी, PGI लखनऊ में भर्ती

अयोध्या में अटल जयंती पर कविता के जरिए भाजपा देगी श्रद्धांजलि
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading