लाइव टीवी

देश के 2 लाख 75 हज़ार गांवों में 'राम महोत्सव' मनाएगी विश्व हिन्दू परिषद
Ayodhya News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 25, 2020, 10:13 PM IST
देश के 2 लाख 75 हज़ार गांवों में 'राम महोत्सव' मनाएगी विश्व हिन्दू परिषद
VHP​ ने बनाया 'राम महोत्सव' का खास प्लान (File Photo)

25 मार्च से 8 अप्रैल के बीच आयोजित इस श्रीराम महोत्सव को लेकर देश के सभी गांव में महोत्सव समितियों का गठन किया जाना है और हर गांव में श्रीराम की मूर्ति स्थापित करवा पूजन-अर्चन किया जाना है.

  • Share this:
अयोध्या. विश्व हिंदू परिषद पूरे देश के गांवों में राम महोत्सव मनाने जा रही है. जिसके लिए योजना बनाई जा रही है. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले के बाद विश्व हिंदू परिषद (VHP) का मकसद पूरे देश को मंदिर (Ram Temple) निर्माण में शामिल करने का है. दरअसल विश्व हिंदू परिषद ने भावी कार्यक्रमों के आयोजन की रणनीति बनाने और भविष्य में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों पर विचार-विमर्श के लिए राम नगरी के कारसेवक पुरम में बैठक शुरू है.

कारसेवक पुरम में आयोजित विहिप के अवध प्रांत की योजना बैठक में संगठन की ओर से पूर्व घोषित राम महोत्सव समिति अन्य बिंदुओं पर विचार मंथन किया जा रहा है. बैठक में विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चंपत राय, क्षेत्रीय संगठन मंत्री अम्बरीष सिंह समेत पूरे अवध क्षेत्र के 22 जनपदों के पदाधिकारी शामिल हो रहे हैं. राम मंदिर मामले को लेकर सुप्रीम फैसले के बाद आयोजित अवध क्षेत्र की इस बैठक में बदले हालात से उपजी परिस्थितियों पर भी विचार मंथन किया जाएगा. विहिप की कोशिश राम महोत्सव के माध्यम से गांव-गांव में समितियां बनाकर राम की मूर्ति स्थापित कराने और इनकी पूजा करवा पूरे देश में राममय माहौल बनाने की है.

कैसे तय होती है रूप-रेखा
विश्व हिंदू परिषद की ओर से आगामी कार्यक्रमों की योजना समेत अन्य मुद्दों पर विचार विमर्श के लिए प्रत्येक वर्ष दो बार योजना बैठक का आयोजन किया जाता है. इस योजना बैठक में 6 माह के बीच आयोजित होने वाले कार्यक्रम के साथ इस अवधि में कार्यक्रमों के आयोजन को लेकर प्रांत के विभिन्न जनपदों के पदाधिकारी चिंतन-मंथन करते हैं. चिंतन-मंथन के बाद भविष्य का खाका तैयार किया जाता है. इसी खाके के आधार पर विश्व हिंदू परिषद पूर्व प्रस्तावित कार्यक्रमों का आयोजन करता है और योजना बैठक में लिए गए निर्णय का अनुपालन कराता है.

कारसेवक पुरम में आयोजित अवध प्रांत की दो दिवसीय योजना बैठक में अयोध्या, सुल्तानपुर, अंबेडकरनगर, बाराबंकी, गोंडा, बलरामपुर, बहराइच, श्रावस्ती, लखनऊ, सीतापुर, लखीमपुर समेत 22 जनपदों के पदाधिकारियों को बुलाया गया है. शनिवार को कारसेवक पुरम में शुरू हुई दो दिवसीय योजना बैठक में पहले दिन संगठन की ओर से रामनवमी पर घोषित राम महोत्सव के आयोजन पर विचार विमर्श हुआ. प्रांत के पदाधिकारियों को बताया गया कि पूरे देश में राम महोत्सव का आयोजन किया जाना है. इस महोत्सव को देश के दो लाख 75 हजार गांव तक ले जाना है.

कब से कब तक होगा आयोजन
25 मार्च से 8 अप्रैल के बीच आयोजित इस श्रीराम महोत्सव को लेकर देश के सभी गांव में महोत्सव समितियों का गठन किया जाना है और हर गांव में श्रीराम की मूर्ति स्थापित करवा पूजन-अर्चन किया जाना है. महोत्सव के तहत देश के विभिन्न हिस्सों में रथ यात्रा भी निकाली जाएगी. राम मंदिर निर्माण के पूर्व पूरे देश को इस राम महोत्सव के माध्यम से राम में किया जाएगा. योजना बैठक रविवार को भी जारी रहेगी. इस बाबत विहिप के प्रवक्ता शरद शर्मा ने बताया कि प्रत्येक 6 माह के कार्यक्रमों और आयोजनों पर विचार-विमर्श के लिए संगठन की ओर से योजना बैठक का आयोजन किया जाता है. राम महोत्सव के माध्यम से गांव-गांव को जोड़कर पूरे देश को राम मंदिर निर्माण शुरू होने के पूर्व राममय किए जाने की योजना है.ये भी पढ़ें- शर्मनाक: बुजुर्ग मां को भूखा-प्यासा ताले में बंद कर मरने के लिए बेटे-बहू ने छोड़ा....

किन्नर महासम्मेलन में CAA को लेकर भी चल रहा मंथन....

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 25, 2020, 10:01 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर