लाइव टीवी
Elec-widget

UP: अयोध्या फैसले के बाद मंदिर-मस्जिद से जुड़े 18 पक्षकारों और पैरोकारों की बढ़ाई गई सुरक्षा

KB Shukla | News18 Uttar Pradesh
Updated: November 13, 2019, 5:38 PM IST
UP: अयोध्या फैसले के बाद मंदिर-मस्जिद से जुड़े 18 पक्षकारों और पैरोकारों की बढ़ाई गई सुरक्षा
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुरक्षा रिव्यू की, जिसके बाद अयोध्या केस से जुड़े 18 लोगों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के सुरक्षा रिव्यू फैसले के बाद प्रशासन ने इन सभी 18 लोगों को गनर उपलब्ध करा दिया है. वहीं राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत गोपालदास, मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी और हाजी महबूब की सुरक्षा यथावत रखी गई है.

  • Share this:
अयोध्या. सुप्रीम कोर्ट के अयोध्या मसले (Ayodhya Verdict) पर सुनाए गए फैसले के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) द्वारा सुरक्षा रिव्यू (Security Review) में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद से जुड़े 18 पक्षकार (Litigant) और पैरोकारों (Advocates) की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. वहीं राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत गोपालदास, मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी और हाजी महबूब की सुरक्षा यथावत (पूर्व की भांति) रखी गई है. सुरक्षा रिव्यू फैसले के बाद प्रशासन ने सभी 18 लोगों को गनर उपलब्ध करा दिया है. दरअसल सुप्रीम कोर्ट द्वारा राम जन्मभूमि पर फैसले के बाद लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंदिर-मस्जिद से जुड़े पक्षकार और पैरोकार की सुरक्षा का रिव्यू किया. सीएम योगी के सुरक्षा रिव्यू के बाद मंदिर-मस्जिद से जुड़े 18 पक्षकार और पैरोकार की सुरक्षा बढ़ाने का फैसला लिया गया. अयोध्या जिला प्रशासन ने सभी 18 लोगों को गनर उपलब्ध कराया है.

इनकी बढ़ी सुरक्षा, इनकी सुरक्षा यथावत
सुरक्षा बढ़ाए जाने वालों में रामलला के प्रधान पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास, मुस्लिम लीग के नेता डॉ. नजमुल हसन गनी, मुस्लिम मजलिस के प्रदेश अध्यक्ष नदीम, मुस्लिम पैरोकार खालिक अहमद और बादशाह खान प्रमुख रूप से शामिल हैं. वहीं राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास, मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी, मुस्लिम पैरोकार हाजी महबूब की सुरक्षा यथावत रखी गई है. यह फैसला राम जन्मभूमि पर फैसला आने के बाद मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने सुरक्षा रिव्यू पर लिया गया.

इकबाल अंसारी की पिछले दिनों बढ़ी सुरक्षा

बता दें कि पिछले दिनों मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी पर अंतरराष्ट्रीय शूटर वर्तिका सिंह के हमले के बाद उनकी सुरक्षा में इजाफा किया गया था. इकबाल अंसारी की सुरक्षा के लिए इस समय चार गनर तैनात हैं जबकि राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत मंदिर गोपाल दास को केंद्र सरकार द्वारा वाई श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त है. इसके अलावा प्रदेश सरकार के गनर भी उनकी सुरक्षा में लगाए गए हैं. मणिराम दास छावनी के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास को भी सुरक्षा मुहैया कराई गई है. डीएसपी अरविंद चौरसिया ने बताया कि शासन के आदेश पर अयोध्या जिला प्रशासन ने 18 लोगों की सुरक्षा बढ़ा दी है.

ये भी पढ़ें:

अयोध्या होगी देश की सबसे बड़ी धर्मनगरी, बनेगा हवाईअड्डा, सरयू में चलेगा क्रूज
Loading...

4 घंटे न्यायिक हिरासत में रहने के बाद यूपी कांग्रेस अध्यक्ष को मिली जमानत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 13, 2019, 5:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...