लाइव टीवी

CAA विरोध के दौरान पत्थरबाजी मामले में 18 लोगों गिरफ्तार, पुलिस का दावा- दंगा भड़काने की थी साजिश
Azamgarh News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 6, 2020, 9:18 AM IST
CAA विरोध के दौरान पत्थरबाजी मामले में 18 लोगों गिरफ्तार, पुलिस का दावा- दंगा भड़काने की थी साजिश
आजमगढ़ पुलिस ने सीएए प्रदर्शन के दौरान पत्थरबाजी मामले में 18 लोगों को गिरफ्तार किया है.

आजमगढ़ पुलिस (Azamgarh Police) ने मामले में फरार उलेमा कौंसिल के नेता नूरूल होदा और ओसामा पर 25-25 हजार का ईनाम घोषित किया है. इस वारदात में शामिल 16 अन्य नामजदों और 100 से अधिक अज्ञात लोगों की तलाश में दबिश जारी है. पुलिस का दावा है कि उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

  • Share this:
आजमगढ़: उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ (Azamgarh) में पुलिस ने दावा किया है कि सीएए (CAA), एनआरसी (NRC) और एनपीआर (NPR) के खिलाफ बिलरियागंज के मौलाना जौहर पार्क में महिलाओं को आगे कर जिले में हिंदू मुस्लिम दंगा भड़काने की साजिश हुई थी. पुलिस ने उपद्रव के बाद मुख्य साजिशकर्ता मौलाना ताहिर मदनी एक महिला सहित 18 अन्य उपद्रवियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है, वहीं फरार उलेमा कौंसिल के नेता नूरूल होदा और ओसामा पर 25-25 हजार का ईनाम घोषित किया है. इस वारदात में शामिल 16 अन्य नामजदों और 100 से अधिक अज्ञात लोगों की तलाश में दबिश जारी है. पुलिस का दावा है कि उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा. वहीं पुलिस ने साइबर सेल के जरिए सोशल साइटों की मानीटरिंग भी शुरू कर दी है.

बता दें कि मौलाना जौहर पार्क बिलरियागंज में मंगलवार को सैकड़ों महिलाएं बच्चों के साथ सीएए, एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ प्रदर्शन के लिए पहुंच गई थीं. महिलाओं की आड़ में कुछ लोग हमें चाहिए आजादी, हम लेकर रहेंगे आजादी, प्रधानमंत्री और हिंदुओं के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए नारेबाजी शुरू कर दिए. थानाध्यक्ष बिलरियागंज मनोज सिंह के मुताबिक उपद्रवी लाठी डंडे, ईट पत्थर के अलावा घातक हथियारों से लैस थे. भीड़ का नेतृत्व उलेमा कौंसिल के राष्ट्रीय महासचिव ताहिर मदनी पुत्र मो. सगीर हसन आदि कर रहे थे.

पुलिस के मुताबिक पूरे आजमगढ़ में हिंदू मुस्लिम दंगा भड़काने की साजिश थी. इस षड्यंत्र में 35 नामजद व सैकड़ों अज्ञात लोग शामिल थे. वे महिलाओं और बच्चों को आगे कर देश विरोधी, उत्तेजित करने वाले खतरनाक नारे लगा रहे थे. यहां तक कि प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और हिंदू धर्म के लोगों को भद्दी गालिया दे रहे थे. उक्त लोगों ने सड़क जाम करने का प्रयास किया, जब पुलिस ने धारा-144 का हवाला देकर उन्हें रोकने की कोशिश की तो वे और उग्र हो गए. कस्बे में अफरातफरी मच गयी और लोग दुकाने बंद कर भागने लगे.

समय के साथ इनकी भीड़ बढ़ती गई. इसी बीच बुधवार को भोर में करीब चार बजे उपद्रवियों ने पुलिस पर हमला कर दिया. उपद्रवियों द्वारा ईट, पत्थर से किए गए हमले में बिलरियागंज थाने पर तैनात कास्टेबल अजय सिंह, अरूण सिंह, तेजबहादुर सिंह, महिला कांस्टेबल शिखा पाण्डेय तथा जीयनपुर में तैनात कांस्टेबल अमन पासवान, श्रवण गुप्ता गंभीररूप से घायल हो गए.

Azamgarh CAA
पथराव के दौरान क्षतिग्रस्त थाने की जीप


ये हुए गिरफ्तार
उपद्रवियों ने थाने की सरकारी जीप भी क्षतिग्रस्त कर दी. जवाब में पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस का इस्तेमाल कर किसी तरह भीड़ को तितर-बितर कर पार्क कब्जे में ले लिया. उपद्रवियों का नेतृत्व करने वाले साजिशकर्ता उलेमा कौंसिल के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना ताहिर मदनी पुत्र मो. सगीर हसन सहित समीम अहमद पुत्र शमसाद अहमद, शादाब पुत्र गुफरान, आरकम पुत्र मुलतज, अबुशाद पुत्र मकसुद अहमद, जियाउ रहमान पुत्र हिफसू रहमान, खान रय्यान पुत्र खान सहदाब, अजमैन उर्फ महबूब पुत्र हकीमुद्दीन, बेलाल अहमद पुत्र अजीमुल्ला, युसूफ पुत्र राशिद, आमीर पुत्र नशीम अहमद, सलमान पुत्र जुल्फेकार अहमद, आरिफ पुत्र बख्तेनसर, अबु तलहा पुत्र मो. तौकीर निवासीगण कस्बा बिलरियागंज, अब्दुल्ला पुत्र शाह आलम साकिन शहाबुद्दीनपुर थाना बिलरियागंज, तहजीब अहमद उर्फ वकील पुत्र तौहाब अहमद, रहीम पुत्र अमानुलहक निवासीगण बिन्दवल थाना बिलरियागंज, हकीब पुत्र अबुल जैश निवासी हिरनई थाना रौनापार व सहाब पुत्र शादाब आलम साकिन बिन्दवल थाना बिलरियागंज को मौके से गिरफ्तार कर लिया.साजिशकर्ता नूरूल होदा और ओसामा पर 25-25 हजार रूपये का ईनाम घोषित: एसपी
उलेमा कौंसिल के युवा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष नूरूल होदा, ओसामा सहित बाकी के 19 आरोपियों के तलाश में पुलिस जुटी हुई है. पुलिस अधीक्षक प्रो. त्रिवेणी सिंह ने बताया कि घटना की साजिश करने वाले नूरूल होदा और ओसामा पर 25-25 हजार रूपये का ईनाम घोषित किया गया है. पुलिस ने मौके से चार बाइक भी बरामद किया है. वहीं मौलाना जौहर अली पार्क से भारी मात्रा में ईट पत्थर भी बरामद किए गए है.

पूरी तैयारी से थे उपद्रवी: एसपी
पुलिस के मुताबिक उपद्रवी पहले से सारी तैयारी कर लिए थे. वे महिलाओं और बच्चों को आगे कर पूरे जनपद में हिंदू मुस्लिम दंगा भड़काने का प्रयास कर रहे थे. गिरफ्तार आरोपियों को धारा 147, 148, 149, 124ए, 153, 504, 505, 506, 188, 332, 333, 336, 186, 353, 307,120 बी भादवि व 2/3 लोक संपत्ति क्षति निवारण अधिनियम व 7 सीएलए एक्ट के तहत जेल भेजा जा रहा है. उपद्रव के बाद पुलिस सतर्क हो गयी है. उपद्रवियों पर नजर रखने के साथ ही सोशल मीडिया पर भी मानीटरिंग की जा रही है.

ये भी पढ़ें:

CAA प्रोटेस्ट के दौरान महिलाओं और पुलिस के बीच झड़प, 12 लोग हिरासत में

फर्जी मार्कशीट केस में बीजेपी MLA धीरेंद्र बहादुर सिंह के खिलाफ आरोप तय

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए आजमगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 6, 2020, 9:18 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर