• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • आजमगढ़: कोविड वैक्सीन लगने के कुछ घंटों बाद अधेड़ की मौत, जमकर हंगामा, पुलिस से हाथापाई

आजमगढ़: कोविड वैक्सीन लगने के कुछ घंटों बाद अधेड़ की मौत, जमकर हंगामा, पुलिस से हाथापाई

आजमगढ़ में कोविड-19 वैक्सीनेशन के करीब तीन घंटे बाद एक अधेड़ की मौत हो गयी, जिसके बाद हंगामा हो गया.

आजमगढ़ में कोविड-19 वैक्सीनेशन के करीब तीन घंटे बाद एक अधेड़ की मौत हो गयी, जिसके बाद हंगामा हो गया.

Azamgarh News: आजमगढ़ में एक व्यक्ति को कोविड 19 की वैक्सीन लगने के कुछ घंटे के बाद उसकी मौत हो गई, जिसके बाद आक्रोशित भीड़ ने जमकर हंगामा किया. ग्रामीण सड़क जाम कर मौके पर DM को बुलाने की मांग करते रहे. कई थाने की फोर्स मौके पर पहुंची.

  • Share this:

आजमगढ़. उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ (Azamgarh) में कोविड-19 वैक्सीनेशन (Covid -19 Vaccination) के करीब तीन घंटे बाद एक अधेड़ की घर पर मौत हो गई. इसके बाद परिजन सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों के साथ CHC मेंहनगर पहुंचकर जमकर हंगामा शुरू कर दिया. उन्होंने अस्पताल तोड़फोड़ की कोशिश की तो पुलिस को बुलाया गया. आक्रोशित भीड़ ने पुलिस के साथ भी हाथापाई की. भीड़ सड़क जाम कर डीएम को बुलाने की मांग करने लगी. कई थाने की फोर्स मौके पर पहुंची.

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मेंहनगर पर बुधवार को टीकाकरण चल रहा था. दोपहर में मेंहनगर थाना क्षेत्र के देवईत गांव निवासी रामपति राम 55 पुत्र छठ्ठू ने टीका लगवाया. इसके बाद वे घर चले गए. शाम करीब 5 बजे रामपति के परिवार के लोग सैकड़ों की संख्या में लोगों के साथ अस्पताल पहुंचे और टीका लगने से मौत का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया. ग्रामीणों ने अस्पताल में तोड़फोड़ की कोशिश भी की. भीड़ बेकाबू होते देख प्रभारी चिकित्साधिकारी देवमणि ने मेंहनगर थाने पर फोन कर दिया. इसके बाद पुलिस मौके पहुंची और भीड़ को समझाने का प्रयास किया, लेकिन लोग पुलिस से भी भिड़ गए.

लोगों ने पुलिस से शुरू कर दी हाथापाई

इस दौरान कुछ युवकों ने पुलिसकर्मी से हाथापाई की. मौके की नजाकत देख कई थानों की पुलिस फोर्स मौके पर बुला ली गई. ग्रामीण सड़क जाम कर प्रदर्शन करते रहे. ग्रामीण डीएम को मौके पर बुलाने की जिद पर अड़े रहे. पुलिस मामले को सुलझाने का प्रयास करती रही. वैक्सीनेशन के नोडल अधिकारी डा. संजय का कहना है कि टीका लगने के बाद प्रत्येक व्यक्ति को आधे घंटे स्वास्थ्यकर्मी की देख रेख में रखा जाता है. इन्हें रखा गया था. अस्पताल से वे पैदल अपने घर गए. करीब तीन घंटे बाद उनकी मौत हो गई. हो सकता है कि हृदय गति रूकने से मौत हुई हो. पोस्टमार्टम के बाद स्थिति स्पष्ट होगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज