Home /News /uttar-pradesh /

दिव्यांग सूरज के जज्बे को सलाम, पैरों से लिखकर पूरी की पढ़ाई

दिव्यांग सूरज के जज्बे को सलाम, पैरों से लिखकर पूरी की पढ़ाई

.दिव्यांग के हौसलें पर पूरे जनपद को नाज है.क्योकि उसके दोनों हाथ न होने के बावजूद पैरों से लिखकर अपनी पढ़ाई पूरी की और एमए के बाद अब बीएड की पढ़ाई मे 71 प्रतिशत अंक हासिल किया.

.दिव्यांग के हौसलें पर पूरे जनपद को नाज है.क्योकि उसके दोनों हाथ न होने के बावजूद पैरों से लिखकर अपनी पढ़ाई पूरी की और एमए के बाद अब बीएड की पढ़ाई मे 71 प्रतिशत अंक हासिल किया.

.दिव्यांग के हौसलें पर पूरे जनपद को नाज है.क्योकि उसके दोनों हाथ न होने के बावजूद पैरों से लिखकर अपनी पढ़ाई पूरी की और एमए के बाद अब बीएड की पढ़ाई मे 71 प्रतिशत अंक हासिल किया.

आजमगढ़ जिला प्रशासन ने एक दिव्यांग का हौसला बढ़ाने के लिए सम्मानित किया.दिव्यांग के हौसलें पर पूरे जनपद को नाज है.क्योकि उसके दोनों हाथ न होने के बावजूद पैरों से लिखकर अपनी पढ़ाई पूरी की और एमए के बाद अब बीएड की पढ़ाई मे 71 प्रतिशत अंक हासिल किया.

देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जब विकलांगों को दिव्यांग कहकर सम्मान दिया तो उसका असर आजमगढ़ में भी देखने को मिला. तरवां इलाके के रहने वाले सूरज सिंह जन्म से ही पूर्ण रूप से दोनों हाथों से विकलांग है. सूरज ने विपरित परिस्थियों में भी हौसला नही खोया और पैर से लिखने की प्रैक्टिस की और क्लास एक से लेकर एमए तक की पढ़ाई पूरी की. साथ ही बीएड की परीक्षा में 71 प्रतिशत अंक हासिल किया.बीते दिनों टीईटी की परीक्षा देने आये सूरज जब परीक्षा हाल में पैर से पेपर हल कर रहा था तभी आचानक निरीक्षण करने पहुंची आंकाक्षा समिति की अध्यक्ष रितु सुहास उसे देखकर अवाक रह गयीं.

और उनके दिल में सूरज को सहयोग और सम्मान करने की बात आयी. रितु सुहास और मंडलायुक्त आरपी गोस्वामी ने दिव्यांग सूरज को प्रशस्ति पत्र, स्मृति चिन्ह, साल और 25 हजार रूपये का चेक देकर सम्मानित किया.

Tags: Azamgarh news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर