अखिलेश यादव के खिलाफ ताल ठोकेंगे अर्थी बाबा, आजमगढ़ का 'श्मशान घाट' होगा चुनाव कार्यालय

अखिलेश यादव और अर्थी बाबा
अखिलेश यादव और अर्थी बाबा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ के क्षेत्र गोरखपुर के रहने वाले राजन यादव चुनाव प्रचार के लिए अर्थी पर बैठकर निकलते हैं. वे अर्थी पर बैठे रहते हैं और चार लोग अर्थी को कंधे पर लेकर घूमते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 2, 2019, 11:05 AM IST
  • Share this:
2019 लोकसभा चुनाव के दौरान अजब-गजब कारनामे देखने को मिल रहे हैं. इसी राजनीतिक गहमागहमी के बीच उत्तर प्रदेश का एक शख्स सुर्खियों में आ गया है. दरअसल, ये शख्स सपा प्रमुख अखिलेश यादव के खिलाफ आजमगढ़ से चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं. दिलचस्प ये है कि ये अपना चुनाव कार्यालय श्मशान घाट में खोलेंगे. ये अर्थी बाबा के नाम से चर्चित हैं. न्यूज 18 से बातचीत में राजन यादव उर्फ अर्थी बाबा ने बताया कि सपा-भाजपा के कार्यकाल में जनता के हित में कोई काम नहीं हुआ.

अर्थी बाबा ने कहा कि 2019 लोकसभा चुनाव में वह अखिलेश यादव के खिलाफ आजमगढ़ सीट से ताल ठोकेंगे. अर्थी बाबा चिताओं की पूजा करते हैं और उन पर रखे गए शवों से अपनी जीत के लिए उनकी आत्माओं को जगाने का काम कर रहे हैं, ताकि वे उनकी मदद करें और 2019 का चुनाव जीत सकें. अर्थी बाबा ने बताया कि आजमगढ़ सीट से पर्चा दाखिल करने से पहले वह अघोरी बाबाओं से मिलेंगे और उनसे जीत का आशीर्वाद मांगेंगे.





मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के क्षेत्र गोरखपुर के रहने वाले राजन यादव चुनाव प्रचार के लिए अर्थी पर बैठकर निकलते हैं. वह अर्थी पर बैठे रहते हैं और चार लोग अर्थी को कंधे पर लेकर घुमते हैं. मालूम हो कि अर्थी बाबा इससे पहले राष्ट्रपति, विधानसभा और लोकसभा का भी चुनाव लड़ चुके हैं. 2009 के लोकसभा चुनाव में उन्‍होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के खिलाफ ताल ठोकी थी. 2017 के विधानसभा चुनाव में चौरीचौरा विधानसभा क्षेत्र से अभिनेता राजपाल यादव की सर्व समभाव पार्टी ने अर्थी बाबा को टिकट दिया था.
बता दें कि आजमगढ़ जिले से सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव चुनाव लड़ रहे हैं. वहीं चर्चा है कि बीजेपी में शामिल होने के बाद भोजपुरी इंडस्ट्री के जुबली स्टार दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ यहां से चुनाव लड़ सकते हैं. बताते चलें कि यूपी में कुल 80 लोकसभा सीटों पर सात चरणों में चुनाव होंगे. यूपी में पहला चरण 11 अप्रैल, दूसरा चरण 18 अप्रैल, तीसरा चरण 23 अप्रैल, चौथा चरण 29 अप्रैल, पांचवां चरण छह मई, छठा चरण 12 मई और सातवां चरण 19 मई को होगा. वोटों की गिनती 23 मई को होगी.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज