आजमगढ़: रिक्शेवालों की मदद कर रहे भोजपुरी स्टार निरहुआ, रोजेदार महिला को भी मिला राशन
Azamgarh News in Hindi

आजमगढ़: रिक्शेवालों की मदद कर रहे भोजपुरी स्टार निरहुआ, रोजेदार महिला को भी मिला राशन
आजमगढ़ में लोगों की मदद कर रही निरहुआ की टिया,

एक रोजेदार महिला जिसके घर में रोजा खोलने के लिए राशन नहीं था, उसने निरहुआ के जारी नम्बर पर फोन किया.

  • Share this:
आजमगढ़. लाॅकडाउन (Lockdown) के बाद जहां सामाजिक संगठन और राजनैतिक दलों द्वारा गरीब तबके के लोगों को मदद पहुंचाई जा रही थी, वहीं एक ऐसा तबका भी था जिसकी तरफ लोगों की नजर नहीं पड़ी. जी हां लॉकडाउन में रिक्शेवालों की आमदनी ठप हो गई. जिसके बाद रील लाइफ वाले निरहुआ रिक्शा वाले यानी भोजपुरी स्टार दिनेश लाल यादव (Dinesh Lala Yadav) ने इनकी मदद के लिए हाथ बढ़ाया. जिसके बाद रिक्शेवालों के लिए भोजपुरी कलाकार दिनेश लाल यादव उर्फ़ निरहुआ मददगार बनकर उनके साथ खड़े हो गये. फिर क्या था निरहुआ की टीम ने रिक्शेवालों के घर-घर जाकर राहत सामाग्री के साथ ही आर्थिक मदद भी पहुंचाई. इतना ही नहीं निरहुआ ने रिक्शेवालों से फोन पर बात भी की और उन्हे भरोसा भी दिलाया कि किसी भी समय आवश्यकता पड़ने पर फोन कर सकते है.

रोजेदार महिला को मिला राशन

निरहुआ ने एक नम्बर भी जारी किया है, जिससे राशन खत्म होने पर फोन कर राशन मंगा सकते है. इसी बीच एक रोजेदार महिला जिसके घर में रोजा खोलने के लिए राशन नहीं था, उसने निरहुआ के जारी नम्बर पर फोन किया. अपना दर्द बयां किया और बताया की साहब आज मेरे घर में रोजा इफ्तारी के लिए राशन नहीं है. जिसके बाद निरहुआ टीम तत्काल राशन लेकर धमक पड़ी. निरहुआ की यह पहल पूरे जिले में चर्चा का विषय बनी हुई है. देश में जारी लाॅकडाउन भोजपुरी फिल्म स्टार व भाजपा नेता दिनेश लाल यादव निरहुआ जरूरतमंदों के साथ ही रिक्शेवालों का भी खास ख्याल रख रहे है. लाॅकडाउन में सब कुछ बंद होने के बादरिक्शेवाले आर्थिक रूप टूट गये थे, लेकिन निरहुआ ने अपनी टीम के माध्यम से उनके घर राहत सामाग्री पहुंचायी. यही नहीं कई रिक्शा वालों से निरहुआ ने फोन पर बातचीत भी की.



जनता के बीच पहुंच रही टीम
इसी बीच नगर क्षेत्र की एक महिला ने रोजा खोलने के लिए निरहुआ के दिये मोबाइल नम्बर पर फोन किया. सूचना के तत्काल बाद निरहुआ हिन्दुस्तानी टीम के सदस्य रोजेदार महिला के घर पहुंचे और राशन देकर मदद की, रोजेदार महिला का कहना है कि उसके फोन करने के कुछ ही घंटो में उसके पास निरहुआ की मदद पहुंच गयी. वहीं राजनीति में भले ही सपा सांसद अखिलेश यादव ने निरहुआ को पटखनी दी, लेकिन लाॅकडाउन में निरहुआ जरूरतमंदों के लिए उनके सरकार साबित हुए. नगर के बेलइसा में रहने वाली महिला को एक बार निरहुआ हिन्दुस्तानी की टीम ने राशन दिया था. राशन समाप्त होने के बाद वह एक बार फिर निरहुआ की टीम के सदस्य के पास पहुंची और उसे पुनः टीम ने राशन दिया. महिला का कहना है कि इस आपदा की घड़ी निरहुआ ने उनकी बहुत मदद की लेकिन उनके सासंद अखिलेश यादव की तरफ से उनकी कोई मदद नहीं हुई.

अन्य राज्यों में भी दी जा रही मदद

निरहुआ हिन्दुस्तानी टीम के सदस्य व प्रतिनिधि संताष श्रीवास्तव का कहना है कि लाॅकडाउन में निरहुआ द्वार दो अप्रैल से जरूरतमंदों को प्रशासन की मदद से राशन पहुंचाया जा रहा है. अब तक एक हजार से अधिक परिवारों को मदद दी. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि रिक्शेवालों की मदद केवल आजमगढ़ में ही नहीं बल्कि मुम्बई, दिल्ली, बिहार आदि राज्यो में भी की जा रही हैं.

ये भी पढ़ें:

लखनऊ में सुबह 10 बजे खुली शराब की दुकान, उमड़ा लोगों का हुजूम

रेड जोन रायबरेली बॉर्डर पर अचानक पहुंचीं मजदूरों से भरी 45 गाड़ियां, अफरा-तफरी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज