अपना शहर चुनें

States

आजमगढ़: ग्राम प्रधानी के चुनाव में खून-खराबे की आशंका, पुलिस की रडार पर टॉप टेन अपराधी

आजमगढ़ रेंज के डीआईजी ने पंचायत चुनाव को लेकर कसी कमर
आजमगढ़ रेंज के डीआईजी ने पंचायत चुनाव को लेकर कसी कमर

Azamgarh News: पुलिस को भी पता है कि आने वाले पंचायत चुनाव में जरायम की दुनिया में अपना सिक्का चलाने वाले चाहे फरार हो या फिर जेल की सलाखों में, वह अपने कार्यो को अपने गुर्गो से अंजाम दिलाने से नहीं चूक रहे है.

  • Share this:
आजमगढ़. जिले की पुलिस (Police) ने तीन लाख के इनामी बदमाश सूर्यांश (Criminal Suryansh) को मुठभेड़ (Encounter) में ढ़ेर कर जहां अपना मनोबल ऊंचा किया था, उसके ठीक दूसरे दिन पंचायत चुनाव (Panchayat Election) की रंजीश में पूर्व प्रधान की हत्या कर बदमाशों ने एक बार फिर पुलिस (Police) को चुनौती दी. यही नहीं बदमाशों ने आने वाले पंचायत चुनाव में खून-खराबा करने की अपनी मंशा को जाहिर कर दी है. जिसके बाद अब पुलिस ने आजमगढ़ रेंज में अपनी रणनीति को बदल दिया. पुलिस ने बदमाशों को पकड़ने के साथ ही पंचायत चुनाव को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए अभी से ही कमर कसनी शुरू कर दिया है. डीआईजी का दावा है कि आजमगढ़ रेंज के दस बड़े इनामी बदमाशों को पुलिस ने अपने रडार पर रखा है. इसके साथ ही पंचायत चुनाव में अपराधिक छवि वाले लोगों की अभी से निगरानी की जा रही  है.

पुलिस ने बनाई विशेष रणनीति

आजमगढ़ जिले में आतंक के पर्याय बना तीन लाख का इनामीयां बदमाश सूर्यांश दूबे को पुलिस को काफी समय से तलाश थी. पुलिस की तलाश 27 नवम्बर की रात तब पूरी हुई जब स्वाट और सरायमीर पुलिस टीम ने संयुक्त अभियान में सूर्यांश को मार गिराया. इसके बाद पुलिस का मनोबल काफी ऊंचा हुआ. लेकिन ठीक दूसरे ही दिन 29 नवम्बर को पंचायत चुनाव की रंजीश को लेकर बदमाशों ने रानी की सराय थाना क्षेत्र के अल्लीपुर गांव के पूर्व प्रधान की गोली मारकर हत्या कर दी. पूर्व ग्राम प्रधान की हत्या के बाद पुलिस ने पंचायत चुनाव को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए रणनीति में बदलाव किया.



पंचायत चुनाव में हिंसा की आशंका
पुलिस को भी पता है कि आने वाले पंचायत चुनाव में जरायम की दुनिया में अपना सिक्का चलाने वाले चाहे फरार हो या फिर जेल की सलाखों में, वह अपने कार्यो को अपने गुर्गो से अंजाम दिलाने से नहीं चूक रहे है. पंचायत चुनाव में अपने ढहते किले को देखकर यह खून-खराबा से भी बाज नहीं आयेगें. पुलिस सूर्यांश के मारे जाने के बाद मंडल के आजमगढ, मऊ और बलिया के एक लाख के इनामी बदमाशों को अपने रडार पर रखा है. जिसमें  सक्रिय रूप से मऊ जिले का कुख्यात लालू यादव उर्फ विनोद एक लाख का इनामी है. इसके अलावा 50 हजार का इनामी कल्लू उर्फ कालेश्वर उर्फ फौजी आजमगढ़, राहुल सिंह व अनुज कन्नौजिया चिरैयाकोट जनपद मऊ पुलिस की डायरी में सबसे आगे चल रहे है.

तीन लाख के इनामी सूर्यांश के अंत से लोग खुश

आजमगढ़ के रेंज के डीआईजी का कहना है कि तीन लाख के इनामी बदमाश सूर्यांश को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया. इसके अंत से लोग खुश है और पुलिस का मनोबल भी काफी ऊंचा है. उनका कहना है कि रेंज के सभी जिलो में अब पुलिस एक लाख के आस-पास वाले इनामी बदमाशों को सूचीबद्व कर लिया गया है. काफी दिनों से पुलिस की आंखों में धूल झोंकने वाले इन बदमाशों की गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे है. इसके साथ ही पंचायत चुनाव को शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के लिए अलग से तैयारी की गयी है. इसके लिए अपराधिक छवि वाले पंचायत सदस्यों पर पुलिस ने निगरानी बढ़ा दी है. डीआईजी का दावा है कि पंचायत चुनाव को पुलिस सकुशल सम्पन्न करा लेने में कामयाब होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज