आजमगढ़: संजरपुर के ग्रामीणों को प्रियंका गांधी का पत्र कहा- COVID-19 से जंग में आपके योगदान को सलाम
Azamgarh News in Hindi

आजमगढ़: संजरपुर के ग्रामीणों को प्रियंका गांधी का पत्र कहा- COVID-19 से जंग में आपके योगदान को सलाम
संजरपुर मास्क सेंटर को प्रियंका गांधी ने भेजा पत्र

गांव में संजरपुर मास्क सेंटर (Sanjarpur Mask Center) स्थापित किया गया है. जहां प्रतिदिन 1500 से 2000 मास्क बनाकर तैयार किये जाते है और अब तक 26 हजार मास्क कोरोना योद्वाओं (corona warriors) और जरूरतमंदो में वितरित किया जा चुका है. जिसके बाद संजरपुर गांव की इस पहल को काफी सराहा जा रहा है.

  • Share this:
आजमगढ़. बटला हाउस एनकाउंटर (Batla House Encounter) के बाद सुर्खियों में आया आजमगढ़ जिले का संजरपुर गांव एक बार फिर सुर्ख़ियों में है लेकिन इस बार वजह कुछ ख़ास है. इस गांव के लोगों ने कोरोना महामारी (Pandemic Coronavirus) से निपटने के लिए कोरोना वारियर्स (Corona warriors) और जरूरतमंदों के लिए संजरपुर मास्क सेंटर (Sanjarpur Mask Center) की स्थापना की है. संजरपुर के लोगों के इस नेक कार्य को देखते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Congress General Secretary Priyanka Gandhi) ने उन्हें प्रोत्साहन पत्र भेजा है. जिसके बाद ख़ुशी से फूले नहीं समा रहे गांव के लोगों ने कहा कि हमारा प्रयास सफल रहा कि आज अच्छे कार्यों के लिए हमारे गांव का नाम देश के पटल पर आया है.

प्रियंका गांधी का पत्र
प्रियंका गांधी का पत्र


महज 7 रुपये में उपलब्ध कराये जा रहे हैं मास्क
आजमगढ़ जिले के सरायमीर क्षेत्र का संजरपुर गांव वर्ष 2009 में बटला हाउस एनकाउंटर के बाद सुर्खियों में आया था. जिसके बाद न सिर्फ आजमगढ़ जिला सवालों के घेरे में आ गया था बल्कि संजरपुर गांव पर बदनुमा दाग लग गया था. वहीं एक बार फिर संजरपुर गांव देश के पटल पर सुर्खियां बटोर रहा है, कारण गांव के लोगों द्वारा गांव में संजरपुर मास्क सेंटर स्थापित किया गया है. जहां प्रतिदिन 1500 से 2000 मास्क बनाकर तैयार किये जाते है और अब तक 26 हजार मास्क कोरोना योद्वाओं और जरूरतमंदो में वितरित किया जा चुका है. जिसके बाद संजरपुर गांव की इस पहल को काफी सराहा जा रहा है. कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने भी संजरपुर गांव के मास्क सेंटर को एक प्रोत्साहन पत्र लिखा. प्रोत्साहन पत्र में प्रियंका गांधी ने लिखा कि -प्रिय साथियों, कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सीमित संसाधनों के बावजूद जिस लगन से आपके सेंटर द्वारा मास्क का निर्माण कर वितरण किया जा रहा है, वो इस बीमारी से संघर्ष में बहुत मददगार साबित होगा. ऐसे सामूहिक प्रयासों से ही हम एक मजबूत और स्वस्थ देश का निर्माण करने में सफल होंगे. आप लोगों की सेवा भावना को सलाम.
मास्क सेंटर के संस्थापक तारिक शफीक ने बताया कि कोरोना महामारी में मास्क की कालाबाजारी हो रही थी. एक मास्क 100 से 150 रूपये में बिक रहे थे. जिसको देखते हुए उन्होने मास्क सेंटर की स्थापना की. इस मास्क सेंटर में प्रतिदिन डेढ़ हजार से दो हजार मास्क प्रतिदिन तैयार हो रहे हैं. जिसमें सबसे पहले कोरोना योद्वाओं और जरूरतमंदों में करीब 26 हजार मास्क का वितरण किया गया. इसके साथ ही समाजसेवी संस्थाओं व अन्य लोगों को काफी किफायती कीमत महज सात रूपये में मास्क उपलब्ध कराया जा रहा है.



ये भी पढ़ें-Lockdown: UPSRTC बिना कटौती के देगा अपने 60 हज़ार कर्मचारियों को 131 करोड़ का वेतन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज