Home /News /uttar-pradesh /

आजमगढ़: क्वारंटाइन सेंटर में तैनात कर्मचारियों को मिली सूखी पूड़ी, DM ने मांगा जवाब

आजमगढ़: क्वारंटाइन सेंटर में तैनात कर्मचारियों को मिली सूखी पूड़ी, DM ने मांगा जवाब

भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) के 2.86 लाख केस आ चुके हैं.  (फाइल फोटो)

भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) के 2.86 लाख केस आ चुके हैं. (फाइल फोटो)

आजमगढ़ (Azamgarh) स्थित राजकीय मेडिकल कॉलेज (Government Medical College) में कोरोना वायरस संकट (Corona Crisis) के दौरान मरीजों की देखभाल करने वाले कर्मचारियों को खाने के लिए कथित तौर पर सूखी पूड़ी देने का मामला सामने आया है.

    आजमगढ़ (उप्र). आजमगढ़ (Azamgarh) स्थित राजकीय मेडिकल कॉलेज (Government Medical College) में कोरोना वायरस संकट (Corona Crisis) के दौरान मरीजों की देखभाल करने वाले कर्मचारियों को खाने के लिए कथित तौर पर सूखी पूड़ी देने का मामला सामने आया है. घटना का वीडियो वायरल होने के बाद जिलाधिकारी एनपी सिंह ने मेडिकल कॉलेज प्रशासन से स्पष्टीकरण मांगा है. साथ ही मुख्य चिकित्साधिकारी की अध्यक्षता में एक टीम का गठन भी किया है.

    जिले के चक्रपानपुर स्थित राजकीय मेडिकल कालेज में कोरोना वायरस के मरीजों की देखरेख के लिए ड्यूटी पर काफी संख्या में संविदा सफाई कर्मचारियों को तैनात किया गया है. इन सफाईकर्मियों को सुरक्षा की दृष्टि से बारी-बारी से मेडिकल कालेज के ही दूसरे हिस्से में पृथक किया गया है.

    खाने के नाम पर दी जा रही है सूखी पूड़ी
    मेडिकल कालेज प्रशासन ने मेडिकल कालेज में पृथक किए गए कर्मचारियों के लिए खाने पीने का इंतजाम किया है लेकिन खाने के नाम पर कर्मचारियों को सूखी पूड़ी दी जा रही है. इससे परेशान सफाई कर्मचारियों ने करीब सात मिनट का वीडियो बनाकर उसे वायरल कर दिया. इस वीडियों में कर्मचारी आरोप लगा रहे है कि उन्हें नाश्ते में केवल सूखी पूड़ियां दी जा रही हैं. वे पैकेट खोलकर इसे दिखा भी रहे है और अंत में उसे कूडेदान में डाल रहे हैं.

    डीएम ने लिया वायरल वीडियो का संज्ञान
    जिलाधिकारी एनपी सिंह ने बताया कि वायरल वीडियो का संज्ञान लिया गया है. इस मामले में मेडिकल कालेज से स्पष्टीकरण मांगा गया है. इसके साथ ही जांच के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी की अध्यक्षता में एक टीम का गठन कर दिया गया है.

    शनिवार को मेरठ में तीन संदिग्धों को हुई थी मौत
    प्रदेश के मेरठ में अस्पताल के पृथक वार्ड में भर्ती कोरोना वायरस (Corona virus) के तीन संदिग्ध मरीजों की शनिवार को मौत हो गई. जांच रिपोर्ट में इनमें से दो मरीज संक्रमित नहीं पाए गए, जबकि एक शख्स में कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि हुई है.

    मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.आर.सी गुप्ता (Dr.RC Gupta) ने पृथक वार्ड में भर्ती तीन मरीजों की शनिवार को मौत की पुष्टि करते हुए बताया कि इसमें एक लड़की और एक युवक जांच रिपोर्ट में संक्रमित नहीं पाए गए. वहीं, केसरगंज का एक मरीज रविवार को आई जांच रिपोर्ट में संक्रमित पाया गया. मृतक के परिजन द्वारा लापरवाही के आरोप लगाए जाने पर उन्होंने कहा,‘‘ हमारी तरफ से कोई लापरवाही नहीं हुई है.’’

    मेरठ के कोरोना से मुक्त होने की उम्मीद
    उन्होंने बताया कि 134 नमूनों की जांच की गई, जिसमें कोई भी संक्रमित नहीं पाया गया. अगर ऐसे ही हालात रहे तो मेरठ बहुत जल्‍द कोरोना वायरस से मुक्‍त हो सकता है. गौरतलब है कि शुक्रवार रात आई रिपोर्ट में इमलियान निवासी एक गर्भवती महिला सहित तीन लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे. मेरठ में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ कर 89 हो गई है.



    ये भी पढ़ें:

    जौनपुर: पिता से मांगी बीड़ी, नहीं मिलने पर बेटे ने कर ली खुदकुशी



    कानपुर: एक साथ 20 नए केस आए सामने, कुल संख्या पहुंची 185

    Tags: Azamgarh news, Corona Virus, Social media, UP Government, UP news, Up news in hindi, Yogi government

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर