आजमगढ़: लावारिश झोले में रखा था बम, विस्फोट में युवक की मौत एक किशोर घायल...
Azamgarh News in Hindi

आजमगढ़: लावारिश झोले में रखा था बम, विस्फोट में युवक की मौत एक किशोर घायल...
बम धमाके की सूचना के बाद मौके का मुआयना करती पुलिस

बम विस्फोट (Bomb blast) की सूचना के बाद पुलिस (Police) की कई टीमें मौके पर बुला ली गईं जिनके द्वारा घटनास्थल का बारीकी से मुआयना किया गया. रिपोर्ट के मुताबिक़ मृत युवक की पहचान 19 वर्षीय आरिफ के रूप में हुई है जो मुबारकपुर नगर पालिका क्षेत्र का रहने वाला था...

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
आजमगढ़. मुबारकपुर थाना क्षेत्र के चक सिकठी शाह मुहम्मदपुर में बुधवार को एक अहाते में अचानक हुए जोरदार धमाके (Blast) से पूरा क्षेत्र दहल उठा. इस विस्फोट (explosion) की चपेट में आने से एक युवक की मौत हो गयी जबकि एक किशोर गंभीर रूप से घायल हो गया जिसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. बताया जा रहा है कि चार लड़कों को एक लावारिश बैग (Unclaimed bag) मिला था जिसमें एक बम रखा हुआ था.

झोले में रखा था बम
दिनदहाड़े बम विस्फोट की घटना से इलाके में हड़कंप मच गया. सूचना पर सीओ सदर, एसओ मुबारकपुर आनन-फानन में मौके पर पहुंचे जहां गंभीर रूप से घायल किशोर को अस्पताल भिजवाया गया और मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम (Postmortem) के लिए भिजवाया गया. बम विस्फोट की सूचना के बाद पुलिस की कई टीमें मौके पर बुला ली गईं जिनके द्वारा घटनास्थल का बारीकी से मुआयना किया गया. रिपोर्ट के मुताबिक़ मृत युवक की पहचान 19 वर्षीय आरिफ के रूप में हुई है जो मुबारकपुर नगर पालिका क्षेत्र का रहने वाला था. जबकि 16 साल का घायल किशोर जुल्कीश भी उसी मोहल्ले का निवासी है.

सीओ सदर मो. अकमल खां के मुताबिक आरिफ, जुल्कीश, रैय्यान (12 वर्षीय) और गुड्डू (14 वर्षीय) मोहल्ले में स्थित एक पोखरे के पास गये थे जहां पोखरे के किनारे उन्हें झोला मिला लड़कों के मुताबिक जिसमें काफी सामान था. ये लड़के झोले को लेकर घर के पास एक हाते में पहुंचे और झोला खोलकर उसमें रखा एक लोहे का गोला निकालकर उसे देखने लगे. इस दौरान आरिफ ने गोले में लगे एक बटन को खिंचा तभी जोर का धमाका होने से आरिफ और जुल्कीश बुरी तरह से जख्मी हो गए व आरिफ की मौत हो गई. अन्य दोनों किशोर इस धमाके में बच गये.



धमाका इतना तेज था कि आस-पास के लोग दहल गये. साथ ही भागकर मौके पर पहुंचे. सीओ मो. अकमल खां के मुताबिक प्रथम दृष्टया जांच में 'साल 1999 के आसपास मुबारकपुर में सांप्रदायिक तनाव की घटना हुई थी. शक है कि ये उसी समय का पुराना विस्फोटक था जिसे छिपाकर रखा गया था. जो इन लड़कों के हाथ लग गया. हालांकि सीओ का कहना है कि ये मात्र एक अनुमान है फिलहाल सही तथ्यों का पता लगाने के लिए जांच-पड़ताल जारी है.



ये भी पढ़ें-COVID-19: खतरे के मद्देनजर जेलों से रिहा किए जाएंगे कैदी, सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर बन रही लिस्ट...

 
First published: March 25, 2020, 9:32 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading