लाइव टीवी

बीजेपी की उपचुनाव में हार के पीछे 'पिछड़े और दलितों' की उपेक्षा: रमाकांत यादव
Azamgarh News in Hindi

News18Hindi
Updated: March 16, 2018, 2:49 PM IST
बीजेपी की उपचुनाव में हार के पीछे 'पिछड़े और दलितों' की उपेक्षा: रमाकांत यादव
बीजेपी नेता रमाकांत यादव की फोटो.

2014 के लोकसभा चुनावों में आजमगढ़ से समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले बीजेपी नेता रमाकांत यादव ने योगी आदित्यनाथ की कार्यशैली पर सवाल उठाया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 16, 2018, 2:49 PM IST
  • Share this:
यूपी में गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में बीजेपी को मिली हार के बाद पार्टी के अंदर से विरोध के स्वर उठने लगे हैं. 2014 के लोकसभा चुनावों में आजमगढ़ से समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले बीजेपी नेता रमाकांत यादव ने योगी आदित्यनाथ की कार्यशैली पर सवाल उठाया है. यादव ने कहा कि 'पिछड़े और दलितों को जिस तरह से फेंका जा रहा है, उसका परिणाम सामने आ गया है. मैं आज भी अपने दल को कहना चाहता हूं, अगर आप दलितों और पिछड़ों को साथ लेकर चलेंगे तो 2019 में संतोषजनक स्थिति बन सकती है.

इससे पहले उत्तर प्रदेश के गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनावों में बीजेपी को मिली हार पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नतीजे एक सबक हैं. हम खाई में गिरने से पहले ही संभल गए. गलतियां सुधारने का मौका मिला है. 2019 में हम प्रदेश की 80 में से 80 सीटें जीतेंगे. मुख्यमंत्री ने सपा और बसपा के गठबंधन को अवसरवादिता की संज्ञा दी.

इसी कड़ी में अखिलेश ने इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) का जिक्र करते हुए कहा था कि अगर इतने बड़े पैमाने पर ईवीएम खराब ना होतीं तो समाजवादियों की जीत और भी बड़ी होती. कई ईवीएम में पहले से ही वोट पड़ा था. जनता ईवीएम के जरिये भाजपा पर अपना पूरा गुस्सा नहीं निकाल सकी. बेहतर यही है कि ईवीएम के बजाय मतपत्र से चुनाव हो.

बसपा के फूंक-फूंककर बढ़ते कदम

बसपा इस बार कोई जल्दबाजी के मूड में नहीं है. वो फूंक-फूंककर गठबंधन के लिए कदम बढ़ा रही है. इसीलिए यूपी दोनों सीटों के उपचुनाव में समर्थन देकर टेस्ट किया है. सपा की ओर से सकारात्मक कदम दिख रहे हैं. अखिलेश यादव ने जिस तरह से जीत का श्रेय बसपा को दिया है. इससे मायावती का दिल पसीजा है और उन्होंने पुराने जख्मों पर मरहम लगाकर भविष्य में आगे साथ चलने का रास्ता साफ कर दिया है.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए आजमगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 16, 2018, 2:49 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर