बाहुबली नेता रमाकांत यादव के MLA बेटे की दबंगई के खिलाफ अब कांग्रेस नेता ने सीएम योगी से लगाई गुहार
Azamgarh News in Hindi

बाहुबली नेता रमाकांत यादव के MLA बेटे की दबंगई के खिलाफ अब कांग्रेस नेता ने सीएम योगी से लगाई गुहार
विधायक अरुण कांत यादव का विवादों से है नाता.

किसान कांग्रेस के महासचिव विरेंद्र यादव ने सीएम योगी (CM Yogi) को भेजे पत्र में लिखा है कि फूलपुर-पवई (आजमगढ़) विधानसभा से वर्तमान विधायक पिछले कई महीनों से अपने बाहुबल और राजनीतिक रसूख के बल पर अपने ही विधानसभा क्षेत्र में कई लोगों की जमीन और मकान पर कब्जा करने पर लग गए हैं.

  • Share this:
आजमगढ़. बाहुबली नेता व पूर्व सपा सांसद रमाकांत यादव (Ramakant yadav) के पुत्र और वर्तमान भाजपा विधायक अरुण यादव (Arun yadav) पर लोगों की जमीन कब्जाने से लेकर अधिकारियों से बदतमीजी के कई मामले सामने आते रहते हैं. अब इस मामले में कांग्रेस नेता विरेंद्र यादव (Virendra Yadav) ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) को पत्र भेजकर विधायक अरुण यादव पर कार्रवाई की मांग की है.

किसान कांग्रेस के महासचिव विरेंद्र यादव ने सीएम को भेजे पत्र में लिखा है कि फूलपुर-पवई (आजमगढ़) विधानसभा से वर्तमान विधायक पिछले कई महीनों से अपने बाहुबल और राजनीतिक रसूख के बल पर अपने ही विधानसभा क्षेत्र में कई लोगों की जमीन और मकान पर कब्जा करने पर लग गए हैं. उनके इस कृत्य से आपकी पार्टी की छवि को भारी नुकसान पहुंच रहा है. स्थानीय शासन-प्रशासन उनके खिलाफ एक भी कदम उठाने से कतरा रहा है. कृपया जल्द से जल्द निरीह जनता को न्याय प्रदान करें.

रमाकांत यादव देते हैं संरक्षण: विरेंद्र यादव



विरेंद्र यादव का कहना है कि स्थिति ये है कि पीड़ित व्यक्ति जब बीजेपी विधायक के खिलाफ शिकायत लेकर उनके पिता रमाकांत यादव के पास जाता है तो वह कहते हैं कि मेरा इससे कोई मतलब नहीं है. जबकि उन्हीं के संरक्षण में ये सब हो रहा है.
बाहुबली नेता रमाकांत यादव के विधायक बेटे की दबंगई, पूर्व CM के भतीजे ने लगाया जमीन कब्जाने का आरोप

कई लोगों ने की है शिकायत

आरोप है कि अरुण यादव की दबंगई और धमकियों से डरे विद्युत विभाग के कर्मचारी उनके क्षेत्र में काम करने नहीं जा रहे. विधायक से प्रताड़ित लोगों की फेहरिस्त में कुछ नाम और जुड़ गए हैं और ये नाम हैं आजमगढ़ जनपद के मकसुदिया निवासी त्रिलोकी यादव, कुशहां निवासी रियाज अहमद, ओरिल निवासी जियालाल केवट और डॉ. सुभाष यादव.

48 घंटे प्रभावित रहेगी यूपी 112 सेवा, कॉल न मिले तो यहां करें संपर्क

पूर्व सीएम स्व. रामनरेश यादव के भतीजे डॉ. सुभाष यादव भी लगा रहे गुहार

इस फेहरिस्त में डॉ. सुभाष यादव का नाम इसलिए महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि पीड़ित शख्स उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व. रामनरेश यादव के भतीजे और अम्बारी ग्राम प्रधान डॉ. सुभाष यादव हैं. जिन्होंने पहले स्थानीय प्रशासन से मदद की गुहार लगाई लेकिन इस विधायक के आगे जिला प्रशासन भी उनकी मदद नहीं कर सका. हारकर उन्होंने उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ से मदद की गुहार लगाई है. विधायक पर आरोप है कि उनके आदमियों द्वारा डॉ. सुभाष की जमीन कब्जाई जा रही है.

हालात ये हैं कि विधायक और उनके गुर्गे इन्हें इनकी जमीन पर ही कंस्ट्रक्शन का काम नहीं करने दे रहे हैं. जबकि तत्कालीन डीएम के निर्देश पर एसडीएम ने इनकी जमीन की पैमाइश भी करवाई, जिससे विवाद की गुंजाइश खत्म हो जाए. लेकिन बाउंसरों से घिरे रहने वाले विधायक अरुण कांत यादव के डर से डीएम के सहयोगात्मक रवैये के बावजूद पुलिस और प्रशासन डॉ. सुभाष की कोई मदद करने में सक्षम नहीं दिख रहे हैं.

बलिया की ममता राय के नाम पर मऊ में टीचर थी रम्भा पांडेय, FIR

Azamgarh congress
कांग्रेस नेता विरेंद्र यादव का पत्र


बिजली इंजीनियर को धमकी का आरोप

आरोप है कि अभी कुछ दिन पूर्व बिजली विभाग के अधिशाषी अभियंता संतोष कुमार मिश्र को भी इन्होंने धमकी दी, जिसके बाद उन्होंने विधायक की शिकायत उच्चाधिकारियों से की. उनका यह पत्र मीडिया में भी लीक हुआ और शासन तक भी उनकी बात पहुंची लेकिन जिला प्रशासन व पुलिस ने इस मुद्दे पर कोई एक्शन अभी तक नहीं लिया. पीड़ित त्रिलोकी यादव, रियाज अहमद और जियालाल केवट को सीएम योगी के कार्यालय और आजमगढ़ सांसद व समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव के कार्यालय भी अपनी फ़रियाद लेकर पहुंचे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading