UP विधानसभा चुनाव 2022: कांग्रेस ने किसानों के मुद्दे पर BJP सरकार को घेरा
Azamgarh News in Hindi

UP विधानसभा चुनाव 2022: कांग्रेस ने किसानों के मुद्दे पर BJP सरकार को घेरा
सांकेतिक फोटो.

कांग्रेस (Congress) द्वारा 40 दिवसीय किसान जागरण यात्रा चलायी जा रही है. इस अभियान के तहत अब तक कांग्रेसियों ने 50 हजार से अधिक किसानों से मिलकर विभिन्न मुद्दों पर फार्म भरवाये हैं...

  • Share this:
आजमगढ़. 2022 के विधानसभा चुनाव (UP assembly election 2022) से पहले जमीन तैयार करने के प्रयास में जुटी कांग्रेस (Congress) आजकल जनपद में किसानों (Farmers) की समस्याओं के जरिये बीजेपी सरकार (BJP Government) को घेरने के प्रयास में जुटी है. किसान जागरण अभियान के जरिये कांग्रेस चरणबद्ध तरीके से किसानों से स्थानीय समस्याओं से संबंधित फार्म जमा कराकर उन्हें यह भरोसा दे रही है कि उनके उत्पादों को सही मूल्य दिलवाने तक वह संघर्ष करती रहेगी. यह अभियान अब अपने पांचवें चरण में पहुंच गया है. इसके तहत मंगलवार को कार्यकर्ताओं ने किसानों की समस्याओं से संबंधित ज्ञापन सम्बन्धित एसडीएम को सौंपा और उनकी समस्याओं के समाधान की मांग की.

azamgarh
किसानों की मांगों को लेकर कांग्रेस ने उपजिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन


40 दिवसीय किसान जागरण यात्रा
बता दें कि कांग्रेस द्वारा 40 दिवसीय किसान जागरण यात्रा चलायी जा रही है. इस अभियान के तहत अब तक कांग्रेसियों ने 50 हजार से अधिक किसानों से मिलकर विभिन्न मुद्दों पर फार्म भरवाये हैं. कांग्रेसी किसान समस्याओं को अब तक स्थानीय सांसद और विधायक के सामने उठा चुके हैं और आज यह मुद्दे जिला प्रशासन के सामने रखे गये. एसडीएम को ज्ञापन सौंपने के बाद जिलाध्यक्ष प्रवीण सिंह ने बताया कि कार्यकर्ताओं ने समस्याओं और मांगों के संदर्भ में किसानों से जो फार्म भरवाये हैं उसमें किसानों को उनकी फसलों का उचित समर्थन मूल्य न मिलने पर विशेष जोर दिया गया है. प्रवीण सिंह ने कहा कि किसान उचित मूल्य न मिलने के कारण परेशान हैं और कर्जमाफी ना होना किसानों को आत्महत्या के लिए मजबूर कर रहा है. साथ ही आवारा गोवंश भी किसानों के लिए परेशानी का सबब बनते जा रहे हैं. किसानों को आवारा गोवंश से होने वाले नुकसान से मुक्ति दिलाये जाने की आवश्यकता है अन्यथा उन्हें फसल रखवाली भत्ता दिया जाये.
आखिरी चरण में आन्दोलन की है तैयारी


आगे मंहगाई के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा कि खाद, बीज, बिजली बिल तथा डीजल के मूल्य में भी बेतहाशा वृद्धि हो गई है जिससे किसान परेशान हैं. खाद, पानी, बिजली बीज एवं डीजल किसानों को सस्ते दर पर उपलब्ध कराये जाने के साथ ही किसानों की कर्ज माफी की जानी चाहिए. किसानों को खेती में लगने वाली लागत से दुगुना समर्थन मूल्य दिया जाये. पराली निस्तारण के लिए भी किसानों को सरकार की तरफ से धन उपलब्ध कराया जाये. गन्ना बकाया भुगतान व उसके दामोंं में वृद्धि की जाये. ज्ञापन सौंपने के बाद की योजना पर उन्होंने कहा कि यदि सरकार द्वारा किसानों की समस्याओं का तत्काल समाधान नही किया गया तो कांग्रेस पार्टी बड़े आंदोलन के लिए कदम बढ़ायेगी.

ये भी पढ़ें- 

सरकार के तीन साल पूरे होने पर 19 मार्च से जिलों का दौरा करेंगे सीएम योगी आदित्यनाथ
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज