Coronavirus:लॉकडाउन के बावजूद केरल से आजमगढ़ पहुंचे 15 लोग, पुलिस ने बॉर्डर पर रोक कर भेजा अस्पताल
Azamgarh News in Hindi

Coronavirus:लॉकडाउन के बावजूद केरल से आजमगढ़ पहुंचे 15 लोग, पुलिस ने बॉर्डर पर रोक कर भेजा अस्पताल
लॉकडाउन के बावजूद केरल से आजमगढ़ पहुंचे लोग जिले के बॉर्डर पर रोके गए

सीओ अजय कुमार यादव ने बताया कि ये लोग केरल से ट्रेन (Train) द्वारा वाराणसी (Varanasi) पहुंचे थे फिर प्राइवेट बस द्वारा यहां पहुंचे थे. इसकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग (Health department) की टीम को दी गई लेकिन स्वास्थ्य विभाग का सहयोग न मिलने पर जिलाधिकारी से वार्ता की गई...

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
आजमगढ़. कोरोना वायरस (coronavirus) के खतरे के मद्देनजर लॉकडाउन के बावजूद लोगों का एक जगह से दूसरी जगह जाने पर पूरी तरह से अंकुश नहीं लग पा रहा है. आजमगढ़ जनपद में भी एक ऐसा ही मामला सामने आया है. यहां 15 लोग एक प्राइवेट बस से जनपद के बॉर्डर पर पहुंचे जिन्हें वहां छोड़कर बस चली गई. जिसके बाद जिला प्रशासन की मदद से इन सभी लोगों की जिला अस्पताल ले जाकर स्क्रीनिंग करवाई गई. पुलिस (Police) का आरोप है कि स्वास्थ्य विभाग (Health Department) ने इस मामले में पहले सहयोग नहीं किया लेकिन डीएम आजमगढ़ (DM Azamgarh) के निर्देश के बाद वो हरकत में आए.

सूचना पर पहुंचे पुलिस के अधिकारी
रिपोर्ट के मुताबिक केरल से आजमगढ़ और मऊ निवासी 15 लोगों को आज आजमगढ़- जौनपुर बार्डर पर रोक दिया गया. ये सभी वाराणसी से प्राइवेट बस से जनपद के बार्डर पर पहुंचे थे. प्राइवेट बस लोगों को वहीं छोड़कर चली गयी थी. इसकी जानकारी होने पर अधिकारी मौके पर पहुंचे. इस मामले पर बातचीत में सीओ लालगंज अजय कुमार यादव ने बताया कि कुछ लोगों के प्राइवेट सवारी वाहन से बार्डर पर आने की सूचना मिली. इसके बाद वे कोतवाली प्रभारी देवगांव विमलेश कुमार मौर्य के साथ मौके पर पहुंचे. यहां पहुंचने पर पता चला कि आजमगढ़-जौनपुर बार्डर पर केरल से आये 15 लोगों को निजी सवारी बस छोड़कर चली गयी है.

सीमा सील (Border seal) होने के कारण बस जनपद में प्रवेश नहीं कर पाई. पुलिस ने उनसे पूछताछ की तो पता चला कि ये लोग जिनमें एक महिला व दो बच्चे भी थे आजमगढ़ व मऊ जिले के रहने वाले थे. क्षेत्राधिकारी लालगंज अजय कुमार यादव ने बताया कि ये लोग आज सुबह केरल से ट्रेन द्वारा वाराणसी पहुंचे थे फिर प्राइवेट बस द्वारा यहां पहुंचे थे. इसकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग की टीम को दी गई लेकिन स्वास्थ्य विभाग का सहयोग न मिलने पर जिलाधिकारी से वार्ता की. जिसके बाद डीएम के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग ने दो एंबुलेंस भेज कर सभी को जिला अस्पताल पहुंचवाया जहां जांच के बाद जरुरी हिदायतें देकर सभी को घर जाने के लिए छोड़ दिया गया.



ये भी पढ़ें- COVID-19: यूपी में कोरोना आपदा घोषित, राज्यपाल ने दी मंजूरी




Coronavirus: लॉकडाउन का फैसला पर्यावरण संतुलन के लिये भी वरदान साबित हो रहा है...
First published: March 24, 2020, 11:17 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading