लाइव टीवी

COVID-19 Lockdown: आजमगढ़ के इस गांव में नहीं पड़ी आवश्यक वस्तुएं खरीदने की जरूरत, ये रही वजह
Azamgarh News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 5, 2020, 10:40 AM IST
COVID-19 Lockdown: आजमगढ़ के इस गांव में नहीं पड़ी आवश्यक वस्तुएं खरीदने की जरूरत, ये रही वजह
ग्राम प्रधान कमलेश सिंह ग्रामीणों को मुहैया करवा रहे आवश्यक वस्तुएं

ग्राम प्रधान घर-घर प्रतिदिन राशन और सब्जी पहुंचा रहे हैं. इतना ही नहीं ग्रमीणों की सुरक्षा को देखते हुए मास्क, सेनेटाइजर और साबुन तक उपलब्ध कराया जा रहा है.

  • Share this:
आजमगढ़. कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण के दौरान लॉकडाउन (Lockdown) के बीच आवश्यक वस्तुओं की जमकर कालाबाजारी की ख़बरें आ रही हैं. एक तरफ गरीबों के हक को कोटेदार और जिम्मेदारों के डकारने की खबर है तो वहीं दूसरी तरफ आजमगढ़ (Azamgarh) में एक ऐसा गांव है, जहां लॉकडाउन (Lockdown) के बाद से आज तक गांव के गरीबों को आवश्यक वस्तुएं खरीदने की जरूरत ही नही पड़ी. इसकी वजह गांव के प्रधान हैं. ग्राम प्रधान घर-घर प्रतिदिन राशन और सब्जी पहुंचा रहे हैं. इतना ही नहीं ग्रमीणों की सुरक्षा को देखते हुए मास्क, सेनेटाइजर और साबुन तक उपलब्ध कराया जा रहा है. पूरे जिले में ग्राम प्रधान के कार्यो की जमकर सराहना की जा रही है.

गांव को सुबह-शाम सेनेटाइज करवाया जा रहा है

मेहनगर तहसील के गंजोर गांव के ग्राम प्रधान कमलेश सिंह ने लॉकडाउन के समय गांव में कोरोना का खतरा न हो और ग्रामीणों को कोई परेशानी न हो इसके लिए वे पूरा प्रयास कर रहे है. अपने स्तर से ग्राम प्रधान प्रतिदिन ग्रामीणों में राशन और सब्जियों के साथ मास्क, साबुन और सेनेटाइजर का वितरण करा रहे हैं. वहीं गांव को सुबह-शाम सेनेटाइज करवाया जा रहा है, ताकि गांव में कोरोना दस्तक न दे सके. इस गांव की महिला हो या पुरुष उनमे पीएम मोदी की अपील का खासा असर देखने को भी मिला. एक तरफ जहां महिलाए गांव में एक दूसरे से सोशल डिस्टेन्स बनाई हुई हैं, वहीं डोर-टू-डोर जाकर लोगों से 5 तारीख यानी कि आज के दिन रात्रि 9 बजे 9 मिनट तक घर की लाइट बंद कर दिया, मोमबत्ती और टार्च जलाने की अपील करती भी दिखी. महिलाओं की इस जागरूकता का पूरे जिले में चर्चा है.



ग्राम प्रधान की हो रही सराहना



उधर ग्राम प्रधान के कार्यों को जमकर सराहा जा रहा है. इस मामले में बीडीओ संतोष गुप्ता ने बताया कि ग्रामीणों को बाजार में मिल रहे आवश्यक सामान खरीदने में परेशानी हो रही थी और कई जगहों से सामानों की कालाबाजारी की बाते भी प्रकाश में आई. जिसके बाद ग्राम प्रधान ने खुद ही ग्रामीणों को लॉकडाउन तक राशन और सब्जी घर-घर पहुंचाने का फैसला लिया. इतना ही नहीं गांव को प्रतिदिन सेनेटाइज भी किया जा रहा है. साथ ही सभी ग्रामीणों को साबुन, सेनेटाइजर और मास्क भी उपलब्ध कराया जा रहा है जिससे सभी सुरक्षित रहें.

ये भी पढ़ें:

UP में कोरोना पॉजिटिव की संख्या हुई 219, नोएडा में 55, आगरा में 45 केस

फतेहपुर Lockdown: मुफलिसी के बावजूद ये शख्स रोज गरीबों तक पहुंचा रहा भाेजन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए आजमगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 5, 2020, 10:40 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading