लाइव टीवी

आजमगढ़: मदरसे में छिपे थे मरकज में शरीक होने वाले 6 जमाती, पनाह देने वाले पर दर्ज़ हुई FIR
Azamgarh News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 1, 2020, 6:08 PM IST
आजमगढ़: मदरसे में छिपे थे मरकज में शरीक होने वाले 6 जमाती, पनाह देने वाले पर दर्ज़ हुई FIR
अब सभी पीड़ितों को बीकानेर भेजने की तैयारी है. प्रशासन के अनुसार एक साथ सात मरीजों के मिलने के बाद शहर में संक्रमण का खतरा बढ़ गया है.(फाइल फोटो)

दिल्‍ली के हजरत निजामुद्दीन (Hazrat Nizamuddin) इलाके में तबलीगी जमात के मरकज (Markaz) में शामिल होने वाले छह जमातियों को आजमगढ़ जिला पुलिस (Azamgarh District Police) ने इलाके की एक मदरसे से हिरासत में लिया है.

  • Share this:
आजमगढ़: हजरत निजामुद्दीन (Hazrat Nizamuddin) इलाके में तबलीगी जमात के मरकज में शामिल होने वाले छह जमातियों को आजमगढ़ जिला पुलिस ((Azamgarh District Police)) ने इलाके की एक मदरसे से हिरासत में लिया है. फिलहाल इन सभी जमातियों को अस्‍पताल में क्‍वारेंटाइन (Quarantine) कर दिया गया है. वहीं, इन जमातियों को पनाह देने वाले हफिजुल्लाह (Hafizullah) नामक शख्‍स के खिलाफ पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है.

उल्‍लेखनीय है कि दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में तबलीगी जमात के मरकज में आजमगढ़ जिले के लोगों के शामिल होने की सूचना के बाद से ही प्रशासन हाई एलर्ट पर है. पूरे जिले में ऐसे लोगों की तलाश की जा रही है, जो निजामुद्दीन में हुए मरकज मे शामिल हुए है. पुलिस-प्रशासन ने बीते दिन लोगों से अपील भी की थी कि जो भी निजामुद्दीन मरकज में शरीक हुए हैं, अपनी मेडिकल जांच हॉस्पिटल जाकर करा लें. पुलिस और प्रशासन की तमाम कोशिशों के बावजूद हिरासत में लिए गए जमातियों में से एक भी शख्‍स मेडिकल जांच के लिए सामने नहीं आया.

गुप्‍त सूचना के आधार पर छापेमारी
पुलिस निजामुद्दीन में हुए मरकज में शरीक हुए लोगों की तलाश कर ही रही थी, तभी इंटेलीजेंस इनपुट मिला कि मुबारकपुर के सिकठी गांव स्थित एक मदरसे में करीब आधा दर्जन लोग छिपे हुए हैं. ये सभी लोग निजामुद्दीन इलाके में हुए मरकज में शामिल हुए थे. सूचना मिलते ही स्‍थानीय प्रशासन और पुलिस की टीम मदरसा पहुंच गई. छापेमारी के  दौरान, मदरसे से कुल सात लोग मिले, जिन्‍हें अस्‍पताल लाया गया. जांच में पता चला कि हफिजुल्लाह नामक व्यक्ति 6 लोगों को लेकर 21 मार्च को मदरसा पहुंचा था. अपील के बाद भी उन लोगों  ने स्वास्थ्य विभाग से संपर्क नहीं किया. जिसके बाद, पुलिस ने सभी को हिरासत में लेकर हफिजुल्ला के खिलाफ मुकदमा दर्ज लिया.



खुद बताई मरकज में शरीक होने की बात


उल्‍लेखनीय है कि तबलीगी जमात के मरकज में आजमगढ़ जिले के लोगों के शामिल होने के बाद से ही प्रशासन ऐसे लोगों की तलाश में जुटी थी. इसके साथ ही लोगों से प्रशासन ने अपील की थी जो भी लोग इस मरकज में शामिल होकर वापस लौटे है, वे नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र पर जांच करा लें. जानकारी के बाद सरायमीर थाना क्षेत्र में खाशडीह गांव निवासी आरिफ ने प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को सूचना देकर जांच कराई और उसे हास्पिटल में क्वारंटाइन किया गया है. जिला प्रशासन ने आरिर्फ के परिजनों को घर में क्वारंटाइन कर दिया है.

यह भी पढ़ें: 

COVID-19: जौनपुर से पुलिस ने हिरासत में लिए 14 बांग्‍लादेशी, भेजे गए क्‍वारेंटाइन सेंटर

COVID-19: आज से खाद्य एवं रसद विभाग मजदूरों को बांटेगा राशन, सीएम योगी आदित्यनाथ का बड़ा फैसला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए आजमगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 1, 2020, 6:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading