Home /News /uttar-pradesh /

Azamgarh: पटाखों के बाद पराली ने बढ़ाया प्रदूषण का ग्राफ, हर तरफ पसरा दिख रहा धुआं

Azamgarh: पटाखों के बाद पराली ने बढ़ाया प्रदूषण का ग्राफ, हर तरफ पसरा दिख रहा धुआं

पटाखों के बाद पराली ने बढ़ाया प्रदूषण का ग्राफ: हर तरफ धुंआ, लोग परेशान

पटाखों के बाद पराली ने बढ़ाया प्रदूषण का ग्राफ: हर तरफ धुंआ, लोग परेशान

UP Pollution: बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए दिवाली से पहले सुप्रीम कोर्ट ने आतिशबाजी पर पाबंदी लगा दी थी, लेकिन उत्तर प्रदेश में सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का असर देखने को नहीं मिल रहा है. दीपावली पर आतिशबाजी के बाद अब किसान धड़ल्ले से धान की पराली जला रहे हैं. जिला प्रशासन इस पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा, इसके बाद आजमगढ़ जिले में प्रदूषण का ग्राफ तेजी से बढ़ता जा रहा है. ये लोगों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है.

अधिक पढ़ें ...

आजमगढ़. देश में बढ़ते पॉल्यूशन (Pollution) को देखते हुए दिवाली से पहले सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने आतिशबाजी पर पाबंदी लगा दी थी. इसके पीछे अदालत की मंशा पॉल्यूशन पर रोक लगाने की थी, लेकिन उत्तर प्रदेश में सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का असर देखने को नहीं मिल रहा है. जहां दिवाली पर जमकर आतिशबाजी हुई, वहीं अब किसान धड़ल्ले से धान की पराली जला रहे हैं. इसको लेकर आस-पास के लोग जिला प्रशासन को कोसते दिख रहे हैं. अब जिले में भी प्रदूषण का ग्राफ तेजी से बढ़ता जा रहा है, जो लोगों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है.

गम्भीरपुर थाना क्षेत्र के मईखरगपुर गांव में किसानों की इस गलती का खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है, क्योंकि यह धुआं लोगों को बीमारी तो देता ही है, साथ ही उनकी जान भी जोखिम में डालता है. एक तरफ जहां किसान पराली न जलाने को लेकर जागरूक नहीं हैं, वहीं विभाग भी अपना काम सही तरीके से नहीं कर रहा है.

धान की कटाई शुरू हुए दो महीने हो चुके हैं और विभाग अभी तक एक भी किसान का चालान नहीं कर पाया है. इसके पीछे क्या कारण है यह तो संबंधित अधिकारी ही बता सकते हैं. किसानों द्वारा जलाई जा रही पराली का असर आप किसी भी सड़क पर देख सकते हैं, क्योंकि शहर की हर सड़क पर घना धुआं देखा जा रहा है. जिला प्रशासन के अधिकारी कुछ भी बोलने से बचते नजर आ रहे हैं. कार्रवाई की बात कहकर पल्ला झाड़ लिया.

वहीं बड़े किसानों का कहना है कि छोटे किसान में अज्ञानता है, जिसके कारण वो खेतों में पराली जला रहे हैं. अधिकारियों को इन्हें जागरूक करना चाहिए. अगर किसानों के अंदर जागरूकता आ गई तो इसे रोका जा सकता है.

Tags: Azamgarh news, Supreme Court pollution order, Up pollution, Uttar pradesh news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर