बाइक की चपेट में आकर मजदूर की मौत, पत्नी ने बच्चों के साथ किया नेशनल हाइवे जाम
Azamgarh News in Hindi

बाइक की चपेट में आकर मजदूर की मौत, पत्नी ने बच्चों के साथ किया नेशनल हाइवे जाम
मुवावजे का आश्वासन मिलने के बाद ग्रामीणों ने जाम खत्म किया.

मजदूर सामान खरीद कर घर लौट रहा था तभी एनएच-233 पर वह बाइक की चपेट में आ गया. इस हादसे के बाद बाद मृतक की पत्नी ने बच्चों के साथ नेशलन हाइवे को जाम कर दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 11, 2020, 10:18 PM IST
  • Share this:
आजमगढ़ : उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के आजमगढ़ (Azamgarh) जिले के अतरौलिया थाना क्षेत्र में हुई सड़क दुर्घटना (road accident) में एक मजदूर की मौत (Death) हो गई. वह मजदूर सामान खरीद कर घर लौट रहा था तभी एनएच-233 पर वह बाइक की चपेट में आ गया. इस हादसे के बाद बाद मृतक की पत्नी ने बच्चों के साथ नेशलन हाइवे को जाम कर दिया. जानकारी के बाद ग्रामीणों ने भी पत्नी का साथ दिया और प्रशासन से परिवार को मुआवजा दिए जाने की मांग की. घंटों मशक्कत के बाद पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने मृतक परिजनों को पांच लाख रुपये के मुआवजे का आश्वासन दिया. जिसके बाद जाम समाप्त हुआ.



मुआवजा देने का आश्वासन मिला



बताया जाता है कि अतरौलिया थाना क्षेत्र के बांसगांव के रहनेवाले महेंद्र यादव पंजाब में रहकर मजदूरी करते थे. लॉकडाउन में वह अपने घर आए थे. शुक्रवार की देर शाम वह घर से सामान लेने के लिए बाजार गए थे. सामान लेने के बाद वह एनएच-233 को पार कर रहे थे कि तभी एक तेज रफ्तार बाइक की चपेट में आ गए. इस हादसे में उनकी मौत हो गई. मौत के बाद मौके पर उनकी पत्नी अपने बच्चों के साथ घटनास्थल पर पहुंचीं और अकेले ही एनएच पर जाम लगा दिया. यह देख ग्रामीणों ने भी सहयोग किया और प्रशासन से मुआवजे की मांग की. मौके पर पहुंचे एसडीएम ने परिजनों और ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि मृतक के परिजन को पांच लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा. जिसके बाद ग्रामीणों ने जाम को खत्म किया. एसडीएम बूढ़नपुर दिनेश कुमार मिश्रा ने बताया कि सड़क पार करते समय बाइक की चपेट में आने से उनकी मौत मौत हो गई. मृतक काफी गरीब है इसलिए मुख्यमंत्री राहत कोष से पांच लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज