यूपी की इस हाई-प्रोफाइल सीट पर 'लाठी-हाथी और 786' का क्या है फॉर्मूला?
Azamgarh News in Hindi

यूपी की इस हाई-प्रोफाइल सीट पर 'लाठी-हाथी और 786' का क्या है फॉर्मूला?
आजमगढ़ रेलवे स्टेशन

आजमगढ़ सीट से सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव चुनाव लड़ रहे हैं. वहीं बीजेपी ने भोजपुरी इंडस्ट्री के जुबली स्टार दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ को इस सीट से प्रत्याशी बनाया है.

  • Share this:
राहुल सांकृत्यायन, शिबली नोमानी और कैफी आजमी जैसे साहित्यकार और शायरों की नगरी आजमगढ़ की लोकसभा सीट देश की सबसे हाई-प्रोफाइल सीट बनती जा रही है. इस सीट पर लाठी-हाथी और 786 का नारा चर्चा का केंद्र बना हुआ है. सपा के कार्यकर्ता बीजेपी पर इस फार्मूला को जनता के बीच फैलाने का आरोप लगा रहे हैं. उनका इशारा यादव, एससी और मुस्लिमों की तरफ है. आजमगढ़ के सपा जिलाध्यक्ष हवलदार यादव ने न्यूज18 से बातचीत में कहा कि बीजेपी इस नारे की बदौलत बैकवर्ड वोटों का ध्रुवीकरण करना चाहती है.

यह भी पढ़ें: EXCLUSIVE: यश भारती देने वाले अखिलेश के विचारों से मैं सहमत नहीं- निरहुआ

सपा जिलाध्यक्ष कहते हैं कि बीजेपी के उम्मीदवार दिनेश लाल यादव 'निरहुआ' तो पैराशूट प्रत्याशी हैं. चुनाव के बाद वे मुंबई चले जाएंगे. वहीं 'लाठी-हाथी और 786' के नारे का समाजवादी पार्टी पर कोई असर पड़ने वाला नहीं है, क्योंकि अखिलेश यादव यहां से रिकार्डतोड़ मतों से चुनाव जीत रहे हैं. हवलदार यादव ने बताया कि नारा देने के पीछे बीजेपी का मकसद साफ है, पिछड़े वर्ग और स्वर्ण लोगों का वोट बंटे सके.



यह भी पढ़ें: आजमगढ़ से टिकट मिलते ही निरहुआ बने 'चौकीदार', कहा- सैफई संभालें अखिलेश
उन्होंने बताया कि यह नारे देने से सपा-बसपा का वोट कभी भी बंटने वाला नहीं है. अखिलेश यादव के पिता और वर्तमान सांसद मुलायम सिंह यादव ने इस क्षेत्र में काफी विकास किया है. जनता विकास के नाम पर वोट देती है. सपा नेता के मुताबिक बीजेपी के इस नारे का जवाब जनता इस चुनाव में भाजपा के पैराशूट प्रत्याशी को हरा कर देगी.

यह भी पढ़ें: सुर्खियां: मायावती ने कहा- बंटने न पाए मुसलमानों के वोट, फर्जी नौकरियां बांटकर करोड़ों वसूले

इस मामले में बीजेपी का अपना तर्क है. बीजेपी के जिलाध्यक्ष जय नाथ सिंह ने समाजवादी पार्टी पर नारा बनाने और बिगाड़ने का आरोप लगाते हुए कहा कि हम लोगों ने ऐसा कोई नारा नहीं दिया है. उन्होंने दावा करते हुए कहा कि बीजेपी के साथ बड़े पैमाने पर दलित और मुस्लिम जुड़ रहा है. जय नाथ सिंह कहते हैं कि हम लोग नारा देकर कोई नुकसान नहीं करना चाहते. उन्होंने कहा कि बीजेपी के प्रत्याशी निरहुआ की जीत के आगे सपा के लोग बौखला गए है.

यह भी पढ़ें: आजमगढ़: आज भी अपने बदहाली पर आंसू बहा रहा मुलायम सिंह का गोद लिया गांव तमौली

बता दें कि आजमगढ़ सीट से सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव चुनाव लड़ रहे हैं. वहीं बीजेपी ने भोजपुरी इंडस्ट्री के जुबली स्टार दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ को इस सीट से प्रत्याशी बनाया है. बताते चलें कि यूपी में कुल 80 लोकसभा सीटों पर सात चरणों में चुनाव होंगे. यूपी में पहला चरण 11 अप्रैल, दूसरा चरण 18 अप्रैल, तीसरा चरण 23 अप्रैल, चौथा चरण 29 अप्रैल, पांचवां चरण छह मई, छठा चरण 12 मई और सातवां चरण 19 मई को होगा. वोटों की गिनती 23 मई को होगी.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज