एक्सप्रेसवे के जरिए पूर्वांचल से बुंदेलखंड तक विकास का एजेंडा सेट करेंगे पीएम नरेंद्र मोदी

गाजीपुर के हैदरिया से लखनऊ के चांदसराय तक 340.824 किमी लंबे 6 लेन पूर्वांचल एक्सप्रेसवे बनने से यूपी का पूर्वी क्षेत्र राजधानी लखनऊ और आगरा एक्सप्रेसवे से देश की राजधानी दिल्ली से जुड़ जाएगा.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 13, 2018, 9:12 AM IST
एक्सप्रेसवे के जरिए पूर्वांचल से बुंदेलखंड तक विकास का एजेंडा सेट करेंगे पीएम नरेंद्र मोदी
पीएम नरेंद्र मोदी की फाइल फोटो
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 13, 2018, 9:12 AM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 जुलाई को सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ से पूर्वी यूपी के विकास की लाइफलाइन पूर्वांचल एक्सप्रेस का शिलान्यास करेंगे. इस दौरान पीएम मोदी पूर्वांचल के साथ-साथ बुंदेलखंड तक के विकास का रोडमैप भी पेश करेंगे. अपनी जनसभा के दौरान प्रधानमंत्री यह भी बताएंगे कि कैसे पूर्वांचल एक्सप्रेस के साथ-साथ गोरखपुर, प्रयाग और बुंदेलखंड लिंक एक्सप्रेसवे बनने से किसानों की आय बढ़ेगी, नौजवानों को रोजगार और औद्योगिक विकास की रफ़्तार तेज होगी.

बता दें कि गाजीपुर के हैदरिया से लखनऊ के चांदसराय तक 340.824 किमी लंबे 6 लेन पूर्वांचल एक्सप्रेसवे बनने से यूपी का पूर्वी क्षेत्र राजधानी लखनऊ और आगरा एक्सप्रेसवे से देश की राजधानी दिल्ली से जुड़ जाएगा.

यह भी पढ़ें: मगहर में बोले मोदी- आपातकाल लगाने वाले और विरोधी आज कुर्सी के लालच में साथ आ गए

शासन के एक अधिकारी के मुताबिक पूर्वांचल में हैंडलूम, खादी उत्पादों के साथ कृषि आधारित उत्पाद का अच्छा काम होता है. एक्सप्रेसवे को इंडस्ट्रियल कॉरिडोर के तौर पर विकसित करने का ऐलान कर फ़ूड प्रोसेसिंग, कोल्ड स्टोरेज, भंडारण गृह आयर दुग्ध आधारित उद्योगों को प्रोत्साहित किया जा सकता है. इससे जहां किसानों को उनके उत्पादों की अच्छी कीमत मिलेगी वहीं युवाओं को रोजगार के अवसर भी मिलेंगे.

ये भी पढ़ें: इस बार आजमगढ़ से नहीं, मैनपुरी से मुलायम लड़ेंगे चुनाव, ये रही वजह

योगी सरकार ने पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के निर्माण की प्रक्रिया पूरी करने के साथ ही बुंदेलखंड, गोरखपुर और प्रयाग लिंक एक्सप्रेस के निर्माण से जुड़ी प्रक्रिया भी शुरू कर दी है.

पूर्वांचल एक्सप्रेस पर सियासी रार शुरू

इस बीच जनपद में पीएम आगमन के पूर्व राजनीतिक गलियारों में घमासान शुरू हो गया है. समाजवादी पार्टी पूर्वांचल एक्सप्रेस वे को अपना प्रोजेक्ट बताकर केंद्र और प्रदेश सरकार के खिलाफ धरने पर बैठ गई है. सपा के राष्ट्रीय महासचिव बलराम यादव ने कहा है कि तत्कालीन सीएम और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 22 दिसंबर 2016 को पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का शिलान्यास किया था. 70 फीसदी किसानों को को मुआवजा भी दिया गया था. चुनाव की वजह से निर्माण कार्य शुरू नहीं हो सका था. बीजेपी पार्टी पदाधिकारियों ने आजमगढ़ का इतिहास-भूगोल पढ़े बिना पीएम को को आने का न्योता दे दिया.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर