आजमगढ़: पुलिस को देखते ही फायर करने लगे बदमाश, मुठभेड़ में इनामी क्रिमिनल घायल

मुठभेड़ में घायल अपराधी डी-71 पंजीकृत गैंग का सक्रिय सदस्य है. (सांकेतिक तस्वीर)
मुठभेड़ में घायल अपराधी डी-71 पंजीकृत गैंग का सक्रिय सदस्य है. (सांकेतिक तस्वीर)

एसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि मुठभेड़ (Encounter) में घायल अपराधी डी-71 पंजीकृत गैंग का सक्रिय सदस्य था. वह थाना कप्तानगंज एवं तहबरपुर के साइबर अपराधों (Cyber Crimes) में वांछित चल रहा था.

  • Share this:
आजमगढ़. उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले में दिनदहाड़े हुई लूट (Loot) की घटना से पुलिस बौखला गयी. ऐसे में देर शाम से ही पूरे जिले में सघन तलाशी अभियान छेड़ा गया था. इसी क्रम में दीदारगंज थाने की पुलिस भी सड़क पर थी कि इसी दौरान पुलिस और बदमाशों में मुठभेड़ (Encounter) हो गयी. इस मुठभेड़ में पुलिस की गोली से 25 हजार का इनामी शातिर बदमाश मुकेश गौतम घायल हो गया. वहीं उसका एक साथी अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गया. जिसके बाद फरार बदमाश की गिरफ्तारी के लिए पुलिस काम्बिंग ऑपरेशन (Combing Operation) चला रही है.

दीदारगंज और फूलपुर कोतवाली पुलिस शनिवार देर शाम को चेकिंग कर रही थी. इसी बीच मुखबिर के जरिए दीदारगंज पुलिस को सूचना मिली कि बाइक सवार दो बदमाश किसी बड़ी घटना के फिराक थे. सूचना मिलते ही पुलिस नाकाबंदी कर बदमाशों की गिरफ्तारी में जुट गई. पुलिस चेकिंग कर ही रही थी कि बाइक सवार दो युवक आते दिखाई दिए. पुलिस ने जब इन्हें रुकने का इशारा किया तो पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी. जिसमें थाना प्रभारी धर्मेंद्र सिंह बाल-बाल बच गए. वहीं पुलिस की जवाबी कार्रवाई में 25 हजार का इनामी बदमाश मुकेश गौतम घायल हो गया. जबकि उसका साथी भागने में सफल रहा. घायल बदमाश को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है.

एसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि मुठभेड़ में घायल अपराधी डी-71 पंजीकृत गैंग का सक्रिय सदस्य है. वह थाना कप्तानगंज एवं तहबरपुर के साइबर अपराधों में वांछित चल रहा था. इस पर विभिन्न थानों के आधा दर्जन से अधिक साइबर क्राइम के मुकदमे पंजीकृत है. घायल बदमाश मुकेश गौतम के पास से एक तमंचा, 3 एटीएम कार्ड व नगदी व एक चोरी की पल्सर गाड़ी बरामद हुई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज