लाइव टीवी

खुद को जिंदा साबित करने के लिए दर-दर भटक रहा बुजुर्ग, ये है पूरा मामला
Azamgarh News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 25, 2020, 6:13 PM IST
खुद को जिंदा साबित करने के लिए दर-दर भटक रहा बुजुर्ग, ये है पूरा मामला
राम मूरत प्रजापति ने डीएम से की अपील.

आजमगढ़ (Azamgarh) के अहरौला ब्लॉक के एक बुजुर्ग को सरकारी कर्मचारियों ने चंद रुपयों के लालच में जिंदा रहते ही कागजों में मुर्दा कर दिया गया है. अब वह खुद को जिंदा साबित करने के लिए दर-दर भटक रहे हैं.

  • Share this:
आजमगढ़. उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) को भय और भ्रष्टाचार मुक्त करने के तमाम दावे फेल हो रहे हैं और चंद रुपयों के लालच में कर्मचारी अब जिंदा लोगों की ही कब्र खोदने लगे हैं. ताजा मामला आजमगढ़ (Azamgarh) के अहरौला ब्लाक के मोलनापुर गांव के बुजुर्ग राम मूरत प्रजापति का है, जिन्‍हें जिंदा रहते ही कागजों में मुर्दा कर दिया गया है. अब वह खुद को जिंदा साबित करने के लिए दर-दर भटक रहे हैं, लेकिन उनकी सुनने वाला कोई नहीं है. जबकि पीड़ित ने अब डीएम को प्रार्थना पत्र सौंपकर न्याय की मांग की है. वैसे डीएम ने भरोसा दिया है कि वह जल्द ही जिंदा हो जाएंगे, लेकिन यह तो वक्‍त ही बताएगा.

खुद को जिंदा साबित करना है मुश्किल चुनौती
भले ही बुजुर्ग राम मूरत प्रजापति को डीएम ने जल्‍दी जिंदा होने का आश्‍वासन दे दिया हो, लेकिन ये इतना आसान नहीं है. इसका कारण ये है कि वर्षों पहले मुर्दा किए गए लोग आज भी खुद को जिंदा साबित करने की जद्दोजहद में जुटे हैं, लेकिन साबित नहीं कर सके हैं.

ये है पूरा मामला



अहरौला थाना क्षेत्र के मोलनापुर गांव निवासी राम मूरत प्रजापति पुत्र राम नरेश के मुताबिक उसकी बड़ी बहू से उसका विवाद चल रहा है. इसी बीच पांच साल पहले उसे किसी ने सेके्रटरी के साथ साजिश कर परिवार रजिस्टर में मृत घोषित कर दिया. उसे इसकी जानकारी हाल में तब हुई जब उनके मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने की कोशिश हुई. इसके बाद से ही वह खुद को जिंदा साबित करने के लिए सेक्रेटरी से लेकर बीडीओ तक से गुहार लगा रहे हैं, लेकिन उनकी सुनने को कोई तैयार नहीं है. जबकि पीड़ित ने थक हारकर जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र देकर खुद को जिंदा करने तथा फ्रॉड करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की.



बहरहाल, इस मामले में जिलाधिकारी नागेंद्र प्रसाद सिंह का कहना है कि मामला संज्ञान में है और सत्य है. जांच कर कार्रवाई का निर्देश दिया गया है.

मृतक संघ के अध्यक्ष ने कही ये बात
मृतक संघ के अध्यक्ष लालबिहारी मृतक का कहना है कि जिंदों को मुर्दा और मुर्दे को जिंदा कर उनकी संपत्ति को हड़पने का खेल कोई नया नहीं है. इस तरह के सैकड़ों मामले सामने आ चुके हैं, लेकिन इसे रोकने के लिए न तो आज तक कोई कानून बना और ना ही ठोस कार्रवाई की गई है. अन्य लोगों की तरह ही राम मूरत प्रजापति की लड़ाई भी वे लड़ेंगे और उसे जिंदा कराएंगे.

 

ये भी पढ़ें-

शातिर प्रेमी ने महिला सिपाही को फंसा किया प्रेग्नेंट, फिर हुआ ऐसा

 

पोंजी कंपनियों के जाल में राम नगरी, निवेशकों का करोड़ों रुपया डूबा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए आजमगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 25, 2020, 6:10 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading