अपना शहर चुनें

States

आजमगढ़ में बनेगा अखिलेश यादव का भव्य 'आशियाना', जमीन की हुई रजिस्ट्री

आजमगढ़ में बनेगा अखिलेश यादव का भव्य 'आशियाना' (File Photo)
आजमगढ़ में बनेगा अखिलेश यादव का भव्य 'आशियाना' (File Photo)

गौरतलब है कि आजमगढ़ (Azamgarh) से अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) 2019 में सांसद चुने गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 22, 2021, 9:39 PM IST
  • Share this:
आजमगढ़. उत्तर प्रदेश में भी साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर पार्टियों ने तैयारियां तेज कर दी हैं. इसी कड़ी में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने पूर्वांचल के समीकरण के ध्यान में रखते हुए एक नया कदम उठाया है. लखनऊ में रहने वाले अखिलेश यादव का अब आजमगढ़ (Azamgarh) में कैंप आवास होगा. शुक्रवार को समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश के नाम 4374 वर्ग मीटर भूमि का बैनामा कराया गया. भूमि बैनामे के दौरान सपा के विधायक, पूर्व मंत्री सहित दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद रहे. जल्द ही कार्यालय का निर्माण शुरू कराया जाएगा. सपाइयों की मानें तो अखिलेश यादव 2022 में होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव में इसी कार्यालय से पूरे पूर्वांचल को साधने का काम करेंगे.

बता दें कि सपा मुखिया अखिलेश यादव 13 दिसंबर 2020 को आजमगढ़ भूमि बैनामे के सिलसिले में आये थे. 14 दिसंबर को वे रजिस्ट्रार से भी मिले थे लेकिन उस समय किन्हीं कारणों से भूमि का बैनामा नहीं हो पाया था. इसके बाद खरमास माह शुरू हो गया जिसके कारण बैनामे का कार्यक्रम रद्द कर दिया गया था. आज पूर्व मंत्री बलराम यादव के नेतृत्व में पूर्व मंत्री दुर्गा प्रसाद यादव, विधायक नफीस अहमद, बेचई सरोज सहित दर्जनभर नेता रजिस्टार कार्यालय सदर पहुंचे. यहां भूमि का बैनामा कराया गया.

समाजवादी पार्टी के नाम हुई रजिस्ट्री
समाजवादी पार्टी के नाम हुई रजिस्ट्री





भूमि के बैनामे के बाद साफ हो गया कि अखिलेश यादव का नया आशियाना अब अनवरगंज में होगा. खास बात है कि जिस भूमि का बैनामा हुआ है. वह मंदुरी हवाई पट्टी से महज 6 किलोमीटर दूरी पर है. करीब इतनी ही दूरी शहर से भी है. ऐसे में यहां आने-जाने में भी सपा सुप्रीमो को आसानी होगी. इस कार्यालय की नींव जल्द ही पड़ेगी और यह विधानसभा चुनाव 2022 से पहले बनकर तैयार होगा. अखिलेश यहीं से पूर्वांचल पर अपनी पकड़ और मजबूत करेंगे. पूर्वांचल के सोनभद्र, गाजीपुर, वाराणसी, जौनपुर, गाजीपुर, मऊ, बलिया, भदोही और मिर्जापुर समेत अन्य जिलों की 117 से अधिक विधानसभा सीटों को सीधे कवर करने में आसानी होगी.

पूर्वांचल साधने का प्लान
सपा जिलाध्यक्ष हवलदार यादव का कहना है कि हवाई पट्टी पर निर्माण चल रहा है. यहां आने की अनुमति नहीं मिलती. अगर हवाई पट्टी सही होती तो वे सुबह में आते और शाम को लौट जाते. इसके अलावा शहर में आने पर लोगों से मिलने में दिक्कत होती है. इसलिए यहां कार्यालय बनाने का फैसला किया गया. उन्होंने बताया कि कार्यालय जल्द बनकर तैयार होगा. इसके बाद अखिलेश यादव यहां आकर रूकेंगे और यहीं से पूरे पूर्वांचल को डील करेंगे. गौरतलब है कि आजमगढ़ से अखिलेश यादव 2019 में सांसद चुने गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज