Home /News /uttar-pradesh /

samajwadi party may fields dimple yadav from azamgarh for lok sabha by election akhilesh yadav nodark

डिंपल यादव आजमगढ़ से लड़ सकती हैं लोकसभा उपचुनाव! सामने आई ये बड़ी वजह

सपा डिंपल यादव को आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव में मैदान में उतार सकती है.

सपा डिंपल यादव को आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव में मैदान में उतार सकती है.

Azamgarh Lok Sabha Bypoll: उत्तर प्रदेश राज्यसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी ने अपने तीनों कैंडिडेट का ऐलान कर दिया है, लेकिन इस लिस्‍ट में सपा प्रमुख अखिलेश यादव की पत्‍नी डिंपल यादव का नाम नहीं है. इसके बाद पूर्व सांसद के आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव में उतरने की संभावना बढ़ गई है. सूत्रों के मुताबिक, अखिलेश यादव अपनी पत्‍नी को पूर्वांचल में पकड़ रखने के लिए इस सीट पर पर उतार रहे हैं, तो स्‍थानीय नेताओं ने भी उनके नाम पर मुहर लगा दी है.

अधिक पढ़ें ...

आजमगढ़. उत्तर प्रदेश राज्यसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी ने अपनी तीनों सीटों पर प्रत्याशी उतार दिए हैं, लेकिन इन सीटों के उम्मीदवारों में सपा मुखिया अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव का नाम नहीं है. ऐसे में अब साफ हो गया है कि सपा प्रमुख की पत्‍नी राज्यसभा नहीं जा रही हैं. वहीं, एक बार फिर अटकलों का बाजार गर्म हो गया है कि डिंपल यादव आजमगढ़ से ही लोकसभा उपचुनाव लड़ सकती हैं. वहीं, इन अटकलों को अखिलेश यादव के महीने की शुरुआत में दो दौरों ने पुख्‍ता कर दिया है.

दरअसल हाल में ही संपन्न यूपी विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मैनपुरी की करहल विधानसभा सीट से जीत दर्ज की थी. इसके बाद उन्होंने आजमगढ़ लोकसभा सीट को छोड़ दिया, जिसके कारण उपचुनाव होना है. वहीं, बुधवार को चुनाव आयोग ने उपचुनाव की तिथि का ऐलान कर दिया है. जबकि 6 जून से नामांकन की प्रक्रिया भी शुरू हो जाएगी.

इस वजह से डिंपल यादव का दावा मजबूत
बता दें कि राज्यसभा के लिए सपा की तरफ से तीन सीटों में से एक सीट पर सपा मुखिया अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव को उतारे जाने की संभावना थी, लेकिन गुरुवार को सपा ने राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष जयंत चौधरी को प्रत्याशी बना दिया. इसके बाद डिंपल यादव का राज्यसभा जाने का रास्ता बंद हो गया है. वहीं, समाजवादी पार्टी अब डिंपल यादव को आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव में उतार सकती है.

दरअसल अखिलेश यादव मई महीने में एक सप्ताह के अंदर दो बार आजमगढ़ का दौरा कर पार्टी के नेताओं से भी राय मशवरा कर चुके हैं. वहीं, सूत्रों का दावा है कि सपा प्रमुख हर हाल में पूर्वांचल में अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए आजमगढ़ सीट को नहीं छोड़ना चाह रहे हैं. जबकि दूसरा कारण यह भी है कि अगर स्थानीय नेताओं को टिकट मिलता है तो पार्टी में गुटबाजी का खतरा भी बढ़ सकता है, इसलिए सपा मुखिया अखिलेश यादव इस सीट पर अपना कब्जा बनाए रखने के लिए पत्नी डिंपल यादव को उपचुनाव में उतारना चाह रहे हैं. कहा तो यहां तक जा रहा है कि अखिलेश यादव के आजमगढ़ दौरे के दौरान ही स्थानीय नेताओं ने डिंपल यादव के नाम पर मुहर भी लगा दी है.

Tags: Akhilesh yadav, Azamgarh news, Dimple Yadav, Purvanchal Politics

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर