बलिया हत्याकांड के आरोपी धीरेंद्र सिंह के समर्थन में दुर्जनपुर गांव जा रहे करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष हिरासत में

बलिया जाने की कोशिश में राजपूत करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप सिंह आजमगढ़ में हिरासत में लिए गए.
बलिया जाने की कोशिश में राजपूत करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप सिंह आजमगढ़ में हिरासत में लिए गए.

आजमगढ़ (Azamgarh): हिरासत में लिए जाने के बाद राजपूत करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप सिंह ने कहा कि बैरिया के विधायक सुरेन्द्र सिंह ने कुछ भी गलत नहीं कहा. उन्होंने कहा कि भाजपा बिना कारण राजपूतों को दबाने का काम कर रही हैं, यह भाजपा के लिए अच्छा संदेश नहीं है.

  • Share this:
आजमगढ़. उत्तर प्रदेश में बलिया (Ballia) जिले के दुर्जनपुर गांव जाने का प्रयास कर रहे राजपूत करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप सिंह (Karni Sena Rajppot Pradeep Singh) को पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद हिरासत में लेकर अस्थाई जेल भेज दिया है. दरअसल प्रदीप सिंह के आने की सूचना पर आजमगढ़-अम्बेडकर नगर के टोल प्लाजा पर रोकने के लिए भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई थी. लेकिन अम्बेडकर नगर से निकले करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष ने पुलिस द्वार रोके जाने की जानकारी मिलते ही रास्ता बदल दिया. इसके बाद पूरे दिन पुलिस हांफती रही. आखिरकार किसी तरह से पुलिस ने प्रदीप सिंह को बुढ़नपुर बाजार से हिरासत में ले लिया और अस्थाई जेल भेज दिया.

पुलिस ने कर रखी थी रोकने की तैयारी मगर...

प्रदीप सिंह का बलिया जिले के दुर्जनपुर गांव में कुछ दिनों पूर्व हुई हत्या के सिलसिले में बलिया जाने के लिए बुधवार को कार्यक्रम तय था. बलिया जाने से रोकने के लिए उनको आजमगढ़ जिले में ही घुसने से रोकने के लिए आजमगढ़-अम्बेडकर नगर बार्डर पर सुबह से ही पुलिस और प्रशासन भारी संख्या में पुलिस फोर्स के साथ लोहरा टोल प्लाजा पर पहुंचे थे. पुलिस को पता चला कि राजपूत करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष अम्बेडकर नगर में दाखिल हो गए हैं और आजमगढ़ पहुचने वाले हैं.



काफिले का रास्ता बदला तो सूचना पर हलकान हुई पुलिस
पुलिस उनका इधर टोल प्लाजा पर इंतजार कर रही थी. उधर प्रदीप सिंह को ये सूचना मिल गई. इसके बाद प्रदेश अध्यक्ष ने अपने काफिले का रास्ता बदल दिया. वे दूसरे रास्ते से बलिया जाने लगे. इधर काफी समय बाद जब टोल प्लाजा पर नहीं पहुंचे तो पुलिस और प्रशासन की हलचल तेज हो गई. अधिकारियों ने गुजरने वाले रास्ते के स्थानीय पुलिस से बात की तो पता चला कि वे घंटो पहले ही अम्बेडकर नगर से निकल चुके हैं. जिसके बाद पुलिस हरकत में आई.

आखिरकार बुढ़नपुर कस्बे में मिले प्रदीप सिंह

आनन-फानन में पूरे जिले में नाकेबंदी कर करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष को पुलिस ने ढूंढना चालू किया. इसी बीच पुलिस ने उनके काफिले को बुढ़नपुर कस्बे में पहुचे ही काफिले को रोक लिया. काफिले को रोके जाने से नाराज समर्थकों ने हंगामा करना शुरू कर दिया. अधिकारियों ने राजपूत करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष को बताया कि उनको आगे नहीं जाने दिया जायेगा लेकिन वे बलिया जाने की जिद पर अड़ गए. इसके बाद पुलिस ने उन्हे हिरासत में लेकर अस्थाई रूप से कोयलसा ब्लाक परिसर में रखा है.

बीजेपी विधायक ने कुछ गलत नहीं कहा- प्रदीप सिंह

इस दौरान राजपूत करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि वे बलिया के दुर्जनपुर जाना चाह रहे थे लेकिन पुलिस ने उन्हे उनके समर्थको के साथ हिरासत में ले लिया. उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि बैरिया के विधायक सुरेन्द्र सिंह ने कुछ भी गलत नहीं कहा. उन्होंने कहा कि भाजपा बिना कारण राजपूतों को दबाने का काम कर रही हैं, यह भाजपा के लिए अच्छा संदेश नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज