लाइव टीवी

योगी सरकार का खौफ: जमानत पर रिहा हुए हत्यारे ने फिर किया आत्मसमर्पण
Azamgarh News in Hindi

News18Hindi
Updated: March 26, 2018, 11:12 PM IST

हत्या व लूट के मामले में जिला कारागार में 2016 से बंद अरविन्द यादव 23 फरवरी को बेल पर छूटकर बाहर आया था. गाजीपुर के रहने वाले इस अपराधी का खौफ गाजीपुर ही नहीं बल्कि पूर्वांचल के कई जिलो में था और यह हत्या व लूट जैसे संगीन अपराधों को अंजाम देता था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2018, 11:12 PM IST
  • Share this:
यूपी में हो रहे एंकाउन्टर का खौफ अपराधियों में दिखने लगा है. इसकी बानगी आजमगढ़ जिले में देखने को मिली. जहां अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे धर-पकड़ की पुलिसिया कार्रवाई के चलते सोमवार को हत्या, लूट जैसे संगीन वारदातो को अंजाम दे चुके एक अपराधी ने शहर कोतवाली में असलहों के साथ आत्मसमर्पण कर दिया.

अपराधी का कहना है कि वो अब जुर्म की दुनिया छोड़ना चागता है. वह जेल में रहकर पहले सुधरेगा और फिर मेहनत मजदूरी करके अपना जीवन यापन करेगा. वही शहर कोतवाली में प्रेसवार्ता के दौरान एसपी सिटी ने बताया कि हत्या व लूट के मामले में जिला कारागार में 2016 से बंद अरविन्द यादव 23 फरवरी को बेल पर छूटकर बाहर आया था. गाजीपुर के रहने वाले इस अपराधी का खौफ गाजीपुर ही नहीं बल्कि पूर्वांचल के कई जिलो में था और यह हत्या व लूट जैसे संगीन अपराधों को अंजाम देता था.

इधर अपराधियो के खिलाफ चल रही मुहिम से खौफ में आए अरविन्द यादव ने असलहे के साथ शहर कोतवाली में समर्पण किया और उसने अपराध की दुनिया को अलविदा कहते हुए मेहनत मजदूरी कर जीवन यापन करने का निर्णय लिया.

ये भी पढ़ें

छेड़खानी का विरोध करने पर युवती को छत से फेंका, हाथ-पैर टूटे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए आजमगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 26, 2018, 11:12 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर