Home /News /uttar-pradesh /

UP Block प्रमुख चुनावः आजमगढ़ के बाहुबलियों के सामने कमजोर पड़ी BJP! इन सीटों पर नहीं उतारे उम्मीदवार

UP Block प्रमुख चुनावः आजमगढ़ के बाहुबलियों के सामने कमजोर पड़ी BJP! इन सीटों पर नहीं उतारे उम्मीदवार

बाहुबलियों का वर्चस्व फिर एक बार आजमगढ़ जिले में देखने को मिल रहा है. (सांकेतिक फोटो)

बाहुबलियों का वर्चस्व फिर एक बार आजमगढ़ जिले में देखने को मिल रहा है. (सांकेतिक फोटो)

Azamgarh News: बाहुबलियों के चुनाव में उतरने के बाद बीजेपी ने उन सीटों पर अपने प्रत्याशी नहीं उतारे हैं, एक तरफ इसे हार का डर कहा जा रहा है तो दूसरी तरफ इसे विधानसभा चुनावों को देख लिया गया सोचा समझा निर्णय बताया जा रहा है.

आजमगढ़. जिले में हमेशा से ही बाहुबलियों का राजनीति में भी वर्चस्व रहा है. ऐसा ही कुछ जिला पंचायत चुनावों में देखने को मिला और अब ब्लॉक प्रमुख चुनावों में भी इनका असर दिख रहा है. सपा नेता और बाहुबली दुर्गा प्रसाद से हार का स्वाद चख चुकी बीजेपी को देख कर ऐसा लग रहा है जैसे ब्लॉक प्रमुख चुनावों में उसने बाहुबलियों को वॉकओवर दे दिया है. बीजेपी ने चार प्रत्याशियों के खिलाफ अपना एक भी प्रत्याशी मैदान में नहीं उतारा है. वहीं पार्टी ने पल्हना से दावेदार रहीं जिलाध्यक्ष ध्रुव कुमार सिंह की पत्नी का टिकट काट दिया है. वहीं भाजपा ने रमाकांत यादव, मुन्ना सिंह,सोनू सिंह सहित कई बाहुबलियों के सामने अपना प्रत्याशी मैदान में नही उतारा है.
अब हर जगह ये चर्चा है कि क्या बीजेपी बाहुबलियों के सामने कमजोर पड़ रही है, या फिर ये दूरदर्शी सोच के कारण ऐसा किया जा रहा है. उसका कारण है कि जल्द ही विधानसभा चुनाव भी होने वाले हैं ऐसे में बीजेपी किसी भी हालत में ब्लॉक प्रमुख चुनावों में भी हारना नहीं चाहती है क्योंकि इसका सीधा असर विधानसभा चुनावों पर पड़ेगा.

बाहुबलियों के परिवार मैदान में
आजमगढ़ में बाहुबलियों का हमेशा से प्रभाव रहा है. ऐसा ही कुछ फूलपुर विधानसभा क्षेत्र में भी है, यहां पर बाहुबली रमाकांत यादव का वर्चस्व है. इस बार भी इनके ही परिवार के सदस्य मैदान में हैं. यादव के भाई की पुत्रवधू अर्चना यादव को ब्लॉक प्रमुख के चुनावों में उतारा गया है जो पिछले चुनाव में भाजपा से जीतकर ब्लॉक प्रमुख बनी थीं. अब वे सपा से हैं और बीजेपी ने इस बार उनके खिलाफ उम्मीदवार नहीं उतारा है.

वहीं बाहुबली भूपेंद्र सिंह मुन्ना का ठेकमा में खासा वर्चश्व है. इस बार वे फिर अपनी पत्नी को मैदान में उतार रहे हैं. बीजेपी ने यहां भी प्रत्याशी नहीं उतारा है. लालगंज में सोनू सिंह ने अपनी एक कर्मचारी पर दाव लगाए हैं. कारण कि यह सीट सुरक्षित हो गई है. बीजेपी ने यहां भी अपना प्रत्याशी नहीं उतारा. जबकि यह जिला मुख्यालय की सीट है. दबंगों के सामने बीजेपी द्वारा प्रत्याशी न उतारना चर्चा का विषय बना हुआ है. लोगों का मानना है कि जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में हार के बाद बीजेपी कोई रिस्क नहीं लेना चाहती क्योंकि आने वाले दिनों में विधानसभा चुनाव हैं. इसलिए ऐसी सीटें जहां उसके हार के चांस ज्यादा है उनसे चुनाव से किनारा कर लिया है.

Tags: Bahubali, BJP, Elections, Uttar pradesh news, Uttar Pradesh Politics

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर