Home /News /uttar-pradesh /

UPTET Exam: सॉल्वर गैंग के मुखिया समेत 22 गिरफ्तार, कई कॉलेज के प्रबंधक भी शामिल

UPTET Exam: सॉल्वर गैंग के मुखिया समेत 22 गिरफ्तार, कई कॉलेज के प्रबंधक भी शामिल

पुलिस  ने  नकल कराने वाले गिरोह के मुखिया सहित कई लोगों को गिरफ्तार किया है.

पुलिस ने नकल कराने वाले गिरोह के मुखिया सहित कई लोगों को गिरफ्तार किया है.

UPTET Solver Gang: पुलिस टीम ने मुख्य सरगना डीआईओएस कार्यालय के बाबू धर्मेन्द्र राय व 7 विद्यालयों के प्रबंधक समेत 22 लोगों को गिरफ्तार किया है. जबकि दो प्रबंधक, अध्यापक सहित आठ लोग फरार है.

आजमगढ़. प्रदेश सरकार के लिए यूपीटीईटी परीक्षा (UPTET 2022) को सफलतापूर्वक संचातलित करवाना एक बड़ा टास्क था. यही कारण है कि इस परीक्षा के सफल आयोजन के लिए पुलिस (Police) की कई टीमें लगी हुई थी. इस कड़ी में पुलिस के हाथों एक बड़ी सफलता लगी है. रानी की सराय पुलिस और स्वाट टीम ने मिलकर नकल कराने वाले गिरोह के मुखिया सहित कई लोगों को गिरफ्तार किया है.

पुलिस टीम ने मुख्य सरगना डीआईओएस कार्यालय के बाबू धर्मेन्द्र राय व 7 विद्यालयों के प्रबंधक समेत 22 लोगों को गिरफ्तार किया है. जबकि दो प्रबंधक, अध्यापक सहित आठ लोग फरार है. गिरफ्तार आरोपियों में तीन महिलाएं भी शामिल है. पुलिस ने इनके कब्जे से 2.70 लाख नकद, करीब पचास लाख रूपये के चेक, ऐडमिट कार्ड और मार्कसीट बरामद किया है.

धर्मेन्द्र कुमार राय था मास्टरमाइंड
बता दें कि यूपी टेट की परीक्षा का पेपर लीक होने के बाद दूसरी बार बीते रविवार को इसे आयोजित किया गया था. परीक्षा को सही तरह से सम्पन्न कराने के लिए पुलिस के साथ प्रशासन के अधिकारी जुटे हुए थे. करीब एक सप्ताह से स्वाट टीम लगातार प्रबंधक और अध्यपकों की निगरानी में जुटी हुई थी. इसी दौरान स्वाट टीम द्वितीय व दारोगा ज्ञानचन्द्र शुक्ला को टेट परीक्षा में कई प्रबंधकों द्वारा अभ्यर्थियों से नकल के नाम पर धन उगाही का मामला प्रकाश में आया. जांच में पता चला कि मुख्य सरगना कोई और नहीं बल्कि डीआईओएस कार्यालय का बाबू धर्मेन्द्र कुमार राय है.

जानकारी मिलते ही पुलिस ने उसे दबोच लिया और पूछताछ शुरू की. पूछताछ में कई विद्यालयों के नाम प्रकाश में आए. ऐसे में पुलिस ने इन विद्यालयों पर अतिरिक्त अधिकारियों व पुलिस की ड्यूटी लगाई, जिससे की परीक्षा की शुचिता बनी रहे. जांच के बाद पुलिस की टीम ने मुख्य सरगना डीआईओएस कार्यालय के बाबू, सात विद्यालयों के प्रबंधक समेत 22 आरोपियों को गिरफ्तार किया.

ये हैं नकल करवाने वाले
गिरफ्तार आरोपियों में प्रबंधक सूर्य प्रकाश यादव, वेद प्रकाश यादव, सहर्ष राय उर्फ गोल्डी, देवेन्द्र यादव, हरेन्द्र यादव, कमलेश कुमार, इन्द्रेश यादव, धर्मेन्द्र कुमार राय उर्फ बब्लू राय (बाबू डीआईओएस कार्यालय), कमलेश कुमार, तारा सिंह पटेल, प्रशान्त राय, इन्द्रेश यादव, हरेन्द्र यादव, अरविन्द कुमार निवासीगण आजमगढ़ जनपद, नीरज कुमार सकसेना, रविन्द्र यादव, सारिक जावेद, जितेन्द्र सिंह, अर्शी, साजिदा, नाजिया,जफर खान, अरविन्द गुप्ता निवासीगण रामपुर जनपद शामिल है.

प्रति छात्र तीन लाख रुपये
पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने बताया कि ये संगठित गिरोह है. जो टेट परीक्षा में प्रति छात्र तीन लाख रूपये में नकल कराने का ठेका लिया था. इसके लिए इन लोगों ने कुछ रूपये एडवांस में लिये थे, वहीं छात्रों की मार्कशीट व अन्य कागजात अपने पास रख लिए थे. इसमें रामपुर जनपद के नौ लोग भी गिरफ्तार हुए हैं. इनके पास से 2.70 लाख नकदी, भारी मात्रा में मार्कशीट, 48 लाख रूपये के 6 चेकबुक सहित अन्य सामान बरामद किया गया है.

इन सभी लोगों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जा रही है. गिरफ्तार विद्यालयों के प्रबंधकों के स्कूल को ब्लैक लिस्ट में डालने के लिए डीएम को संस्तुति भेजी गई है. पुलिस अधीक्षक ने इस मामले का खुलासा करने वाले दरोगा ज्ञानचन्द्र शुक्ला को 20 हजार रुपये और गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को 25 हजार रूपये पुरस्कार देने की घोषणा भी की.

Tags: Paper Leak, UPTET Exam

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर