विधवा पेंशन ले रही थी 106 सुहागिन महिलाएं, पोल खुलने के बाद राशि वसूलने का आदेश

महिलाओं ने अपने पति को मृत दिखा कर पेंशन का लाभ लिया है.
महिलाओं ने अपने पति को मृत दिखा कर पेंशन का लाभ लिया है.

बदायूं (Badaun) में सुहागिन महिलाओं द्वारा विधवा पेंशन योजना (Widow Pension Scheme) का लाभ लेने का मामला सामने आया है. इस मामले में डीएम ने पेंशन रोकने की कार्रवाई के साथ अभी तक उन्हें दी गयी राशि वसूलने का निर्देश दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 14, 2020, 7:55 PM IST
  • Share this:
बदायूं. उत्‍तर प्रदेश के बदायूं (Badaun) में जालसाजी (Forgery) का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. जी हां, यहां पति को मृत बताकर सुहागिन महिलाओं द्वारा विधवा पेंशन योजना (Widow Pension Scheme) का लाभ लेने का मामला सामने आने से हड़कंप मच गया है. जबकि प्रशासन को फिलहाल 106 ऐसे मामले मिले हैं. वहीं, इस मामले को लेकर जिलाधिकारी कुमार प्रशांत ने कड़ी कार्रवाई का आदेश दिया है.

ऐसे खुली सुहागिन महिलाओं के पेंशन लेने की पोल
बदायूं के जिला प्रोबेशन अधिकारी संतोष कुमार ने बुधवार को बताया कि जिले में कुल 106 महिलाएं ऐसी हैं जिन्होंने अपने पति को मृत दिखा कर पेंशन का लाभ लिया है. उन्होंने कहा कि कुछ ऐसे भी मामले हैं जिनमें महिला ने पहले पति के मरने के बाद पेंशन लेना शुरू किया था, लेकिन दूसरे विवाह के बाद उसे बंद नहीं कराया. अधिकारी ने कहा कि वर्तमान में सुहागिन मिली सभी महिलाओं की पेंशन रोकी जा रही है और उन्हें पेंशन के रूप में अब तक दी गई धनराशि की वसूली भी की जाएगी. इसके अलावा जिला प्रोबेशन अधिकारी संतोष कुमार ने बताया कि इसके अलावा 891 ऐसी महिलाएं भी हैं जिनकी मौत हो चुकी है लेकिन अभी तक उनके खाते में पेंशन की रकम जा रही है, उसे भी बंद किया जाएगा. वहीं, आगे से इस प्रकार के मामलों को लेकर पूरी सतर्कता बरती जाएगी.

ये भी पढ़ें-  प्रतापगढ़ केस: छात्रा के सुसाइड मामले में सीएम योगी ने दिया अधिकारियों को आदेश, आरोपियों पर हो सख्‍त कार्रवाई




जिलाधिकारी कुमार प्रशांत ने दिया ये आदेश
इस पूरे प्रकरण पर बदायूं के जिलाधिकारी कुमार प्रशांत का कहना है कि कुछ शिकायतें मिली हैं, उनकी जांच कराई जा रही है.इस मामले का तत्काल संज्ञान लेते हुए पेंशन रोकने की कार्रवाई के साथ अभी तक उन्हें दी गयी राशि वसूलने का भी निर्देश दिया है. उन्होंने कहा कि यह एक सतत प्रकिया है जिसमें निरंतर जांच चलती रहती है और यथोचित कार्रवाई भी की जाती है. (भाषा इनपुट)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज