Assembly Banner 2021

बदायूं मामला: सीबीआई का दावा, आरोपी से अंतरंग संबंध बनाना चाहती थी छोटी बहन

सीबीआई की क्लोजर रिपोर्ट सौंपने के बाद बदायूं मामले में नए खुलासे हो रहे हैं। फाइनल रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि दोनों बहनों ने न केवल आत्महत्या की थी बल्कि बड़ी बहन के मुख्य आरोपी पप्पू यादव से सहमति से अंतरंग संबंध थे।

सीबीआई की क्लोजर रिपोर्ट सौंपने के बाद बदायूं मामले में नए खुलासे हो रहे हैं। फाइनल रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि दोनों बहनों ने न केवल आत्महत्या की थी बल्कि बड़ी बहन के मुख्य आरोपी पप्पू यादव से सहमति से अंतरंग संबंध थे।

सीबीआई की क्लोजर रिपोर्ट सौंपने के बाद बदायूं मामले में नए खुलासे हो रहे हैं। फाइनल रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि दोनों बहनों ने न केवल आत्महत्या की थी बल्कि बड़ी बहन के मुख्य आरोपी पप्पू यादव से सहमति से अंतरंग संबंध थे।

  • News18
  • Last Updated: January 6, 2015, 1:03 PM IST
  • Share this:
सीबीआई की क्लोजर रिपोर्ट सौंपने के बाद बदायूं मामले में नए खुलासे हो रहे हैं। फाइनल रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि दोनों बहनों ने न केवल आत्महत्या की थी बल्कि बड़ी बहन के मुख्य आरोपी पप्पू यादव से सहमति से अंतरंग संबंध थे।

सीबीआई ने रिपोर्ट में दावा किया है कि छोटी बहन भी पप्पू यादव के साथ अंतरंग संबंधों की इच्छुक थी। रिपोर्ट में छोटी बहन और पप्पू यादव के बीच की बातचीत शामिल है। यह बातचीत दोनों बहनों की मौत से कुछ देर पहले की है।

दरअसल, सीबीआई ने अदालत में दाखिल क्‍लोजर रिपोर्ट में कहा था कि आरोपियों पर हत्‍या और बलात्‍कार का आरोप साबित नहीं होता। दोनों में से एक बहन का गांव के ही एक व्‍यक्ति के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। इसमें बड़ी बहन छोटी की पूरी सहायता करती थी और जब दोनों को बदमानी का डर सताने लगा तो उन्‍होंने खुद को फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।



सीबीआई का कहना था कि जिस पेड़ पर दोनों बहनों को लटकाया गया था, वह करीब 12 फीट ऊंचा है। यह पेड़ आरोपी पप्‍पू यादव के घर से 20 मीटर की दूरी पर है। ऐसे में कोई शख्‍स भला किसी की हत्‍या कर उसके शव घर के पास वाले पेड़ पर क्‍यों लटकाएगा।
उल्‍लेखनीय है कि कि 14 और 15 साल की दो चचेरी बहनों की कथित रूप से गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई थी, जो अपने घरों से 27 मई को लापता हों गईं थीं। बाद में दोनों के शव आम के पेड़ पर लटके मिले थे।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज