बदायूं गैंगरेप: परिवार ने मांगी फांसी, राहुल ने कहा सीबीआई जांच हो, अखिलेश ने दी मंजूरी

बदायूं गैंगरेप को लेकर यूपी में सियासी पारा गर्म है। इधर, कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने मामले की सीबीआई जांच की मांग की, वहीं मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने तुरंत इस पर मुहर लगा दी। बदायूं के कटरा गांव में पीड़िता के परिवार से मिलने के बाद उन्‍होंने कहा कि जांच से अधिक जरूरी है कि लोगों को इंसाफ मिले।

बदायूं गैंगरेप को लेकर यूपी में सियासी पारा गर्म है। इधर, कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने मामले की सीबीआई जांच की मांग की, वहीं मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने तुरंत इस पर मुहर लगा दी। बदायूं के कटरा गांव में पीड़िता के परिवार से मिलने के बाद उन्‍होंने कहा कि जांच से अधिक जरूरी है कि लोगों को इंसाफ मिले।

बदायूं गैंगरेप को लेकर यूपी में सियासी पारा गर्म है। इधर, कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने मामले की सीबीआई जांच की मांग की, वहीं मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने तुरंत इस पर मुहर लगा दी। बदायूं के कटरा गांव में पीड़िता के परिवार से मिलने के बाद उन्‍होंने कहा कि जांच से अधिक जरूरी है कि लोगों को इंसाफ मिले।

  • Share this:
बदायूं गैंगरेप को लेकर यूपी में सियासी पारा गर्म है। इधर, कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने मामले की सीबीआई जांच की मांग की, वहीं मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने तुरंत इस पर मुहर लगा दी। बदायूं के कटरा गांव में पीड़िता के परिवार से मिलने के बाद उन्‍होंने कहा कि जांच से अधिक जरूरी है कि लोगों को इंसाफ मिले।



इससे पहले राहुल पीडि़ता के परिजनों के साथ उस पेड़ के पास गए, जहां नाबालिग बहनों के साथ गैंगरेप करने के बाद उनके शव को पेड़ से लटका दिया गया था। राहुल से भेंट के दौरान परिजनों ने पुलिस और सरकार के रवैये पर रोष जताया और न्‍याय दिलाने की मांग की। पीडि़ता के पिता ने कहा कि आरोपियों को फांसी मिलनी चाहिए।



कांग्रेस उपाध्‍यक्ष के साथ मधुसूदन मिस्‍त्री, कांग्रेस प्रवक्‍ता शोभा ओझा सहित कई अन्‍य नेता भी मौजूद थे । राहुल की यात्रा को देखते इलाके में सुरक्षा कड़ी कर दी गई थी।





बसपा प्रमुख मायावती ने भी शुक्रवार को अखिलेश सरकार को लताड़ते हुए मामले की सीबीआई जांच की मांग की थी। उन्‍होंने कहा कि अखिलेश सरकार कानून व्‍यवस्‍था बनाए रखने में नाकाम रही है। ऐसे में सूबे में राष्‍ट्रपति शासन लगनी चाहिए।
इधर, किरण बेदी सहित कई सामाजिक कार्यकर्ताओं ने बदायूं गैंगरेप को लेकर सरकारी अधिकारियों के रवैये पर सवाल उठाए हैं। बेदी ने कहा कि अखिलेश सरकार प्रदेश में कानून व्‍यवस्‍था बहाल करने में नाकाम रही है।



शुक्रवार को लखनऊ से लेकर दिल्ली की सत्ता तक बदायूं में दो नाबालिगों के साथ गैंगरेप के बाद हत्या और शव को पेड़ पर लटकाने देने की घटना की गूंज रही। पूरे दिन चले घटनाक्रम में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने प्रदेश के आला अफसरों से बातचीत की। वहीं, मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने डीजीपी को तलब कर आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए विशेष टीमों का गठन करने के निर्देश दिए।



यादव ने प्रभावित बालिकाओं के परिवार को समुचित सुरक्षा मुहैया कराने तथा उनके परिजनों को पांच-पांच लाख रुपए की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने पुलिस महानिदेशक को ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए कड़े एवं प्रभावी कदम उठाने को कहा है।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज