होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /'चूहा हत्याकांड': सामने आई पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट- डूबने से नहीं हुई मौत, फेफड़े-लीवर खराब थे

'चूहा हत्याकांड': सामने आई पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट- डूबने से नहीं हुई मौत, फेफड़े-लीवर खराब थे

Badaun News: चूहा हत्याकांड में पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से आया ट्विस्ट

Badaun News: चूहा हत्याकांड में पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से आया ट्विस्ट

Badaun Rat Murder Case: पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद चूहे की हत्या के मामले में अब नया मोड़ आ गया है. पोस्टमॉर्टम से खुला ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

24 नवंबर को एक पशु प्रेमी ने चूहे की हत्या का मुकदमा दर्ज करवाया था
पुलिस ने मामले में चूहे का पोस्टमॉर्टम बरेली के IVRI में करवाया था
पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में चूहे की मौत की वजह दम घुटना बताया गया

बदायूं. उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले के चर्चित ‘चूहा हत्याकांड’ में बरेली स्थित आईवीआरआई से पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आ गई है. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि चूहे की मौत नाली में डूबने से नहीं बल्कि दम घुटने की वजह से हुई थी. आईवीआरआई के ज्वाइंट डायरेक्टर डॉ केपी सिंह ने बताया कि चूहे के फेफड़े काफी फूले हुए थे. उसके फेफड़े और लीवर में नैक्रोटिक आया था. उसकी हिस्टोपैथोलॉजी और माइक्रोस्कॉपी जांच में नली में पानी या गंदगी का अवशेष नहीं मिला. लेकिन लंग की इंक्लाइंड फटी हुई थी, क्योंकि मरने के दौरान कोई भी जानवर गहरी और ज्यादा सांसे लेता है. जिससे वह रैप्चर हो जाता है. वहीं लीवर में इंफेक्शन की बात भी कही गई है. चूहे का पोस्टमार्टम डॉ अशोक और डॉ पवन कुमार ने किया.

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद चूहे की हत्या के मामले में अब नया मोड़ आ गया है. पोस्टमॉर्टम से खुलासा हुआ है कि चूहे की मौत की मुख्य वजह दम घुटना है. इस मामले में बदायूं में चूहे की हत्या की नामजद रिपोर्ट सदर कोतवाली क्षेत्र में दर्ज हुई थी. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद अब पुलिस को तय करना है कि वो इस मामले में क्या कार्रवाई करती है.

ये है पूरा मामला
दरअसल, बदायूं के पशु प्रेमी विकेंद्र शर्मा को पनवाड़ी मोहल्ले में जाते हुए मनोज कुमार द्वारा एक चूहे को पानी में डुबोकर मारते हुए वीडियो बना लिया था, जिसकी तहरीर सदर कोतवाली पुलिस को दी थी. 24 नवंबर कि इस घटना के बाद 25 नवंबर को सदर कोतवाली पुलिस ने बरेली के आईवीआरआई में चूहे का पोस्टमॉर्टम कराया था. आईवीआरआई के जांइ्ट डायरेक्टर डॉ केपी सिंह ने बताया कि एक चूहे का पोस्टमॉर्टम आईवीआरआई में हुआ है. बदायूं मे किसी के घर में चूहा था. उसने चूहे को पकड़ कर उसकी पूछ में रस्सी और ईंट बांधकर नाली में डाल दिया. उनके पड़ोसी ने इसकी शिकायत थाने में की और मुकदमा दर्ज करवाया. 25 नवंबर को मृत चूहे को आईवीआरआई लाया गया. दो वैज्ञानिक की टीम जिसमें डॉ अशोक कुमार और डॉ पवन कुमार ने पोस्टमॉर्टम किया. पोस्टमॉर्टम में मिला कि चूहे के फेफड़े फूले हुए थे. उसके लीवर में भी कुछ दिक्कत थी. उसके बाद फेफड़ों की माइक्रो स्कोपीलॉजी जांच कराई गई. माइक्रोस्कोपिक जांच में उनको फेफड़ों में नाली के पानी की कोई गंदगी नहीं मिली, लेकिन फेफड़े की मांसपेशियां फटी हुई थी, जो कि मरने के दौरान कोई भी जानवर या इंसान जोर-जोर से सांस लेता है तो वह फट जाती हैं. उसके लीवर में पहले से इंफेक्शन था. वैज्ञानिक इस नतीजे पर पहुंचे की चूहे की मौत दम घुटने से हुई है.

Tags: Badaun news, UP latest news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें